प्रदेश में खाद्य की किल्लत को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन

प्रदेश में खाद्य की किल्लत को लेकर  भारतीय जनता पार्टी ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन

प्रदेश में खाद्य की किल्लत को लेकर  भारतीय जनता पार्टी ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन 

 ओम प्रकाश साहू की रिपोर्ट/रामानुजनगर- भाजपा प्रदेश संगठन के निर्देशानुसार  यहां किसान मोर्चा द्वारा एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला भाजपा उपाध्यक्ष भूलन सिंह किसान मोर्चा के अध्यक्ष रामकरण साहू महामंत्री कपिल पांडेय मंडल अध्यक्ष जयप्रकाश उपाध्याय  ‌सहकारिता प्रकोष्ठ के रामनिवास साहू ने भूपेश सरकार पर जमकर हमला किया। किसानों को संबोधित करते हुए भाजपा नेताओं ने कहा कि जब से छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनी है तब से प्रदेश के किसान सरकार की गलत नीतियों के कारण परेशान हैं। किसानों को बड़े बड़े सज्जबाग दिखाकर बनी कांग्रेस पार्टी सरकार मेआते ही किसानों का दमन करने पर आमादा है। पिछले साल धान खरीदी केन्द्रों में वारदाना की कमी के कारण किसानों को 50 50 रूपए में बारदाना खरीद कर धान बेचने को मजबूर हुए। सरकार ने अभी तक किसी भी किसान को बोरियों का पैसा नहीं दिया है। अब जब खेती किसानी का समय है तब सहकारी समितियों में यूरिया खाद का संकट है उर्वरक के लिए किसान परेशान हैं और दुकानों से तीन गुना अधिक दाम में यूरिया खरीदने को मजबूर हैं।ऐसी परिस्थितियों में भारतीय जनता पार्टी किसानों के साथ खड़ी है और सरकार को अल्टीमेटम दिया जा रहा है यदि समय रहते सरकार कुम्भकरणी निद्रा से नहीं जागी तो भाजपा सड़क से सदन तक किसानों की लड़ाई लड़ी जाएगी। कार्यक्रम का संचालन भाजपा मंडल महामंत्री सुमन्त साहू के द्वारा किया गया। एवं जनपद उपाध्यक्ष दीपक गुप्ता पूर्व मंडल अध्यक्ष बनारसी राजवाड़े  किसान मोर्चा के मंडल अध्यक्ष संत कुमार साहू आदि ने भी संबोधित किया। इस दौरान अजय सिंह बृजा राम साहू  भाजयुमो अध्यक्ष सुनील साहू महामंत्री विवेक दुबे, मीडिया प्रभारी नंदलाल यादव, नागेश्वर तिवारी बीना गुप्ता  राजेश पाण्डेय  प्रदीप झा श्याम सुन्दर राजवाड़े   छोटे लाल पटेल कवल साय सिंह  रामकृष्ण साहू सुमित साहू पूर्व जिला पंचायत सदस्य सुरेश मरकाम बीरबल सिंह  राम कुमार कुशवाहा मदन सारथी गुलाब सिंह किसान मोर्चा मंडल महामंत्री राजेश पांडे जनपद जांगड़े सहित सैकड़ों भाजपा भाजयुमो कार्यकर्ता व बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे।