गरिमा दीवान को कलिंगा विवि ने प्रदान की डॉक्टरेट की उपाधि*

गरिमा दीवान को कलिंगा विवि ने प्रदान की डॉक्टरेट की उपाधि*

गरिमा दीवान को कलिंगा विवि ने प्रदान की डॉक्टरेट की उपाधि



छुरा -  कलिंगा युनिवर्सिटी अटल नगर ने सुश्री गरिमा दीवान को अंग्रेजी विषय के अंतर्गत *'आंग्ल साहित्य में अमिताभ घोष के साहित्यिक कार्यों की महत्ता पर एक अध्ययन'* विषय पर शोधकार्य के लिए पीएचडी की उपाधि प्रदान की है।

          आंग्ल भाषा-साहित्य को समझने, प्रचार करने तथा अंग्रेजी भाषा में भारतीय जन-जीवन, प्रथाओं  और संस्कृति को विश्व पटल पर लाने वाले साहित्यकार अमिताभ घोष के साहित्य में सहज ही प्रतीत होती है।अंग्रेजी समझने और साहित्य में शोध कार्य करने वाले समस्त शोधार्थियों को सुश्री दीवान का यह शोधकार्य अवश्य ही सहयोगी साबित होगा।

              सुश्री गरिमा दीवान के पारिवारिक सदस्य एवं परिचित  बताते हैं कि उनकी पीएचडी के प्रारंभ से उपाधि तक का सफर बहुत उतार-चढ़ाव रहा है। उनकी समय पर शोधकार्य पूर्ण करने की लगन एवं कठिन परिश्रम के फलस्वरूप अब वो डाक्टरेट हो गई है। 

        ज्ञात हो कि वर्तमान में सुश्री गरिमा दीवान आईएसबीएम विवि के कला एवं मानविकी विभाग में सहा. प्राध्यापक अंग्रेजी के पद पर कार्यरत हैं। गरिमा दीवान की इस उपलब्धि पर उनके शोध निर्देशक डॉ. एम एस मिश्रा, कलिंगा युनिवर्सिटी अटल नगर ने शुभकामनाएं दी।पिता गोविन्दधर दीवान और माता उषारानी दीवान अपनी बेटी की इस उपलब्धि पर गौरवान्वित अनुभव कर रहे हैं। परिवारिक संबंधियों में डॉ. अजय कुमार दुबे, श्रीमती रंजीता अजय दुबे, अँतरिक्ष दुबे, योगांश दुबे एवं आईएसबीएम विवि के कुलपति डॉ. आनंद महलवार,  कुलसचिव डॉ. बीपी भोल, डीन डॉ. एन कुमार स्वामी, छात्र कल्याण अधिष्ठाता एवं कला एवं मानविकी विभागाध्यक्ष डॉ. भूपेंद्र कुमार साहू सहित विभाग एवं विश्वविद्यालय के समस्त प्राध्यापकों और कर्मचारियों ने उन्हें शुभकामनाएं दी।