आदिवासियों वनांचल में विघुत कटौती व वोल्टेज से खिलवाड़ कर रही सरकार-बंजारे

आदिवासियों वनांचल में विघुत कटौती व वोल्टेज से खिलवाड़ कर रही सरकार-बंजारे

आदिवासियों वनांचल में विघुत कटौती व वोल्टेज से खिलवाड़ कर रही सरकार-बंजारे


विपक्षी पार्टी दलों द्वारा जिस प्रकार आम जनता गांव, किसान के लिए आवाज बुलंद तो करते है पर धरातल पर ऐसा कुछ नहीं है वर्तमान में आये दिन विघुत संबंधित समस्याओं से सभी ग्रामीण, किसान, जूझ रहे हैं पर विपक्ष पार्टी तमाशा देख रहे हैं ना कि किसानों के साथ आ कर हौसला बढ़ा है न तो सत्ता पक्ष के विरोध में किसानों के लिए न्याय की गुहार लगा रही हैं।क्योंकि सरकार प्रदेशवासियों को सरप्लस बिजली देने का वादा तो किया था पर चुनावी मुद्दों का क्या वादा तो वादा ही रह गया।विदित हो कि गरियाबंद के छुरा ब्लॉक से पुनीत राम ठाकुर, ठाकुर राम ठाकुर, उमेश चंद्राकर गिधनी,पाटसिवनी से मस्त राम, गणेश राम साहू, रामनारायण,गोविंद साहू,नागवंसी, लोहझर से सुबेलाल साहू, तोरण,सुनील,धनेश, हरदी से सरपंच सन्तु राम ध्रुव, बलदेव साहू,लोकेस्वर यादव, अमर सिंग तारक, विजय तिवारी, मन्थिर सिंग ध्रुव, रामकिसन ध्रुव, बलदेव ध्रुव, देवनारायण साहू, देवराज यादव, जीवन तारक, गोपाल दीवान,गुलाब कंवर, लिखन कंवर, सलिक राम कंवर, शिवराम कंवर, गणपत कंवर,नारायण यादव, ईस्वर कंवर, लखन तिवारी तुमगांव से हेमंत साहू, किशोर साहू, रतनू ध्रुव, लषन, और मैनपुर ब्लॉक लीलेश साहू, खिलेश्वर साहू व अन्य ब्लॉकों में विघुत कटौती और वोल्टेज की समस्याओं से काफी जूझ रहे हैं तो अति चिंतनीय का विषय है।ब्लॉक स्तर के अधिकारियों का कहना है कि ऊपर से ही वोल्टेज कम आ रहे हैं ।और कार्यपालन अभियंता एम के नायक उच्च अधिकारी से मिलने पर कहते हैं कि समस्याओं का समाधान हो जायेगा पर उसका भी जुबान एक कहानी बन कर रह गई न तो कटौती कम हो रही हैं न तो वोल्टेज का निराकरण।इन सभी समस्याओं को सुनने वाला कोई नहीं है न विपक्ष भी इस मुद्दा को उठा पा रहे हैं।छत्तीसगढ़ श्रमिक संगठन मजदूर संघ जिलाध्यक्ष रुपनाथ बंजारे ने कहा कि मुख्य दोनों पार्टी पक्ष और विपक्ष में रह चुके है ये पार्टियां सिर्फ़ चुनावी राजनीति करने जानती हैं न कि समस्याओं का समाधान करना।सरकार के अधिकारी कहते हैं कि एक या दो सप्ताह में विघुत का निराकरण हो जाएगा। तो सरकार के आलाधिकारी इसी कार्य को पहले से क्यू चुस्त दुरुस्त नही करते जबकि पहले से पता है कि इस  क्षेत्र में विघुत की खपत ज्यादा है।और जैसे ही गर्मी शुरू होते ही वोल्टेज की कमी होती हैं तो उस स्थिति में पहले से ही उस कमी की मरम्मत क्यू नही करते या आलाधिकारियों से लेकर अधिकारी कर्मचारी सोए रहते हैं जो अनजान बने फिर रहे हैं यहाँ इसी वर्षा की समस्या नही है हर वर्ष की बात है।बंजारे ने स्पष्ट रूप से कहा सरकार इस सभी अन्नदाताओं व ग्रामीणजनों की समस्याओं को गंभीरता से लेकर चिंतन करते हुए तत्काल समाधान किया जाये।