फुटबाल कोच आरिफ मेमन नही रहे, खेल जगत में शोक की लहर

 फुटबाल कोच आरिफ मेमन नही रहे, खेल जगत में शोक की लहर

  फुटबाल कोच आरिफ मेमन नही रहे, खेल जगत में शोक की लहर




गरियाबंद - अपने उत्कृष्ठ प्रदर्शन से गरियाबंद जिले को कई जीत दिलाने वाले अंतर्राष्ट्रीय फुटबाल खिलाड़ी और कोच आरिफ मेमन कोरोना संक्रमण से जंग हार गए। सोमवार देर रात कोरोना संक्रमण से लड़ते हुए उन्होने रायपुर के एक नीजी अस्पताल में अंतिम सांस ली और 52 वर्षीय की आयु में दुनिया को अलविदा कह दिया।



जिले में अंतर्राष्ट्रीय फुटबाल खिलाड़ी के रूप मंें पहचाने जाने वाले आरिफ मेमन फुटबाल कोच के साथ ही पेशे से एक शिक्षक भी थे और दोनो क्षेत्र में ही अपने कार्यो में उत्कृष्ठ थे। हाल में ही 50 प्लस के लिए आयोजित अंतर्राष्ट्रीय फुटबाल प्रतियोगिता में भी भारत का नाम रौशन कर लौटे थे। जानकारी के मुताबिक गत 19 अप्रैल को उनकी कोरोना रिर्पोट पाजीटीव आई थी। जिसके बाद से गरियाबंद कोविड सेंटर में उनका इलाज जारी था। स्थिति गंभीर होने के बाद 3 मई को उन्हे रायपुर रिफर किया गया था। यहां कुछ दिन तक उनकी स्थिति सामान्य थी, लेकिन बिती रात 10ः30 बजे अचानक उनके स्वास्थ्य में गिरावट आने के बाद स्थिति काफी नाजुक हो गई थी, और कुछ देर बाद ही उन्होने दुनिया को अलविदा कह दिया।



  


  इधर उनके निधन की खबर मिलते ही समुचे खेल जगत और गरियाबंद जिले में शोक की लहर दौड़ गई। नगर पालिका अध्यक्ष अब्दुल गफ्फार मेमन, जिला खेल अधिकारी दीनु सिन्हा, वालीबाल कोच सुरज महाड़िक, पार्षद संदीप सरकार सहित कई जनप्रतिनिधो और खिलाड़ियो ने उनके निधन पर दुख व्यक्त किया है। नगर पालिका अध्यक्ष अब्दुल गफ्फार मेमन ने कहा कि गरियाबंद जिले का नाम देश विदेश में रोशन करने वाले अंतर्राष्ट्रीय फुटबाल खिलाड़ी और कोच आरिफ मेमन का निधन समुचे खेल जगत और गरियाबंद जिले के लिए अपूरणीय क्षति है। उन्होने अपने बेहतरीन प्रदर्शन से ना केवल फुटबाल के क्षेत्र में गरियाबंद का नाम आगे बढ़ाया बल्कि जिले के युवाओ को कोचिंग देकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक पहुचाने में अहम भूमिका निभाई। एक बेहतरीन फुटबाल खिलाड़ी और कोच के रूप में हमेशा उनको याद रखा जाएगा।



  


ज्ञात हो कि गरियाबंद जिले को फुटबाल विधा में नई पहचान दिलाने और कई खिताब जिताने वाले आरिफ मेमन तीन दशक से अधिक समय से इस खेल से जुड़े थे। पहले फुटबाल खिलाड़ी रहते हुए उन्होने गरियाबंद जिले के लिए कई मैच खेले और अपने बेहतरीन प्रदर्शन से कई ऐतिहासिक जीत भी दिलाई। जिले का नाम प्रदेश सहित पूरे देश में रोशन किया। इसके बाद उन्होने जिले के युवाओ में फुटबाल का जज्बा जगाने के साथ ही उन्हें अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक पहुचाने मंे भी अहम भूमिका निभाई। उनके बेहतरीन कोचिंग के बदौलत ही जिले की टीम ने कई अंतर्राज्यीय मुकाबलो में जीत दर्ज की। यहां के खिलाड़ियो को राष्ट्रीय स्तर तक चयन हुआ।



  


उल्लेखनीय है कि आरिफ मेमन वर्तमान में छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष भी थे। यहां वे भी काफी सक्रिय रहते थे। शिक्षको की मांगो और उनके हितो के लिए वे हमेशा शासन प्रशासन के बीच आवाज उठाते रहे। उनके निधन से शिक्षा जगत ने भी शोक व्यक्त किया। छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रातीय पदाधिकारी संयुक्त सचिव यशवंत बघेल, विनोद सिन्हा, पुरन साहू, गिरीश शर्मा, गीता शरणागत, छन्नु सिन्हा, छगन पचबिए, दिनेश निर्मलकर, परमेश्वर निर्मलकर, हुलस साहू, संतोष साहू, गोविंद पटेल, लतीफ खान, भुवन यदु, नितिन बखारिया, सलीम मेमन, जितेन्द्र सोनवानी, नंदकुमार रामटेके, सुरेश केला, घनश्याम देवांगन, लोकेश सोनवानी, खेमराज यादव, संजय यादव, दीपक सरवैया, मुकुंद कुटारे, किरण साहू ने दुख व्यक्त किया है।