राज्योत्सव में सोरम विद्यालय की धूम

राज्योत्सव में सोरम विद्यालय की धूम

राज्योत्सव में सोरम विद्यालय की धूम

 

धमतरी :- छत्तीसगढ़ राज्य के स्थापना दिवस के पावन अवसर पर जिला मुख्यालय में रंगारंग राज्योत्सव का आयोजन किया गया। जिसमें जिले के ख्यातिलब्ध कलाकारों ने मंच पर शानदार प्रस्तुतियों से समा बांधा। वहीं श्यामला हिल्स भोपाल में आयोजित राष्ट्रीय कला उत्सव में अपने हुनर का जलवा बिखेर चुकी व्याख्याता श्रीमती दानेश्वरी सिन्हा और श्रीमती वंदना ढिरही के कुशल मार्गदर्शन में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सोरम के बच्चों ने छत्तीसगढ़ की पारंपरिक पंथी नृत्य को मौलिकता के साथ मंच पर उकेरा। नृत्य के साथ-साथ हैरतअंगेज कलाबाजियो ने दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। नृत्य में प्रदर्शित बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, नारी शिक्षा, नारी सशक्तिकरण के संदेश ने उपस्थित जनसमूह को भावविभोर कर दिया। विदित हो कि प्राचार्य सी.एम. शर्मा के निर्देशन और कला एवं संस्कृति की धनी व्याख्याता श्रीमती दानेश्वरी सिन्हा के अथक प्रयासों से सोरम विद्यालय के बच्चों ने विगत वर्षों में युवा महोत्सव, कला उत्सव, आजादी के अमृत महोत्सव जैसे बड़े-बड़े नामचीन आयोजनों में जिला ही नहीं वरन राज्य स्तर और राष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी चमक बिखेरी है। अपनी प्रस्तुतियों में मौलिकता के साथ साथ पारंपरिक वेशभूषा, गीत, साज-सज्जा, बोली-भाखा, भावपूर्ण संदेश से प्रदेश में एक विशिष्ट पहचान बनाई है। जिसके लिए संस्था एवं व्याख्याता श्रीमती दानेश्वरी सिन्हा को जिलाधीश तथा पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा भी सम्मानित किया जा चुका है। इस प्रस्तुति पर संस्था के प्राचार्य सी.एम. शर्मा ने कहा कि हम बच्चों की पढ़ाई के साथ-साथ उनके सर्वांगीण विकास के लिए सदैव प्रयत्न करते हैं। सभी शिक्षक-शिक्षिकाएं विद्यालय में अपना शत प्रतिशत योगदान देते हैं। बच्चों की सांस्कृतिक और साहित्यिक उत्थान में व्याख्याता श्रीमती दानेश्वरी सिन्हा का विशेष योगदान रहा है।



श्रीमती सिन्हा अथक परिश्रम कर बच्चों के हुनर को तराशती हैं। समर्पित भाव से बच्चों को तैयार कर राज्य में विद्यालय का नाम रौशन कर रही हैं। संस्था की विशिष्ट उपलब्धि पर शाला प्रबंधन एवं विकास समिति अध्यक्ष बिसेलाल साहू तथा सदस्यों ने जमकर प्रशंसा की है। कार्यक्रम में व्याख्याता जे.आर. साहू, पूर्णिमा वारदेय, श्रीमती अंजू लिखी, श्रीमती मनोरमा खरिया, वी.पी. साहू, श्रीमती सरिता शर्मा, श्रीमती गुलेश्वरी देवांगन, श्रीमती शुभदा यादव, श्रीमती नलिनी मिश्रा, श्रीमती छाया श्रीवास्तव, श्रीमती प्रभा साहू, सुश्री सारिका रजक, सुश्री पूर्णिमा हिडको, श्रीमती सरस्वती ध्रुव, संजय साहू, सुनील सिन्हा, योगेश साहू, प्रियंका वर्मा, महेश्वरी साहू, प्रह्लाद साहू एवं समस्त स्टाफ का विशेष योगदान रहा।