कोरोना से लड़ाई में क्षेत्र के जनप्रतिनिधि भी सामने आए

कोरोना से लड़ाई में क्षेत्र के जनप्रतिनिधि भी सामने आए

कोरोना से लड़ाई में क्षेत्र के जनप्रतिनिधि भी सामने आए


 *लोगों से टीकाकरण और सावधानी बरतने अपील* 


 गरियाबंद - कोविड19 के  बढ़ते संक्रमण से चिंतित होकर क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों ने पात्रता अनुसार  लोगो को टीकाकरण कराने और अपने जीवन चर्या में मास्क लगाने और 2 गज दूरी का पालन करने का आग्रह किया है । जनपद पंचायत फिंगेश्वर और छुरा के जनप्रतिनिधियों ने अपने वीडियो संदेश में लोगों से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने और शासन प्रशासन के दिशा निर्देशों का पालन करने के लिए लोगों से आग्रह किया है ।






 जनपद पंचायत फिंगेश्वर की अध्यक्ष श्रीमती पुष्पा साहू ने अपने अपील में कहा कि वह खुद कोरोनावायरस से संक्रमित हो गई थी लेकिन दवाई लेकर और कोरोना के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए वे स्वस्थ हो गई हैं । उन्होंने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि  आज अपने घर पर ही सुरक्षित रहना सबसे कारगर उपाय है ।उन्होंने 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों से करबद्ध प्रार्थना कर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्रों और टीकाकरण केंद्रों में टीका लगवाने आग्रह किया है । साथ ही कहा कि अपने परिवार को सुरक्षित रखने के लिए टीकाकरण सबसे  कारगर उपाय है ।  इसी तरह जनपद पंचायत छुरा की अध्यक्ष श्रीमती तोकेश्वरी माझी ने कहां की कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है और  सभी इस संकट से सभी जूझ रहे हैं  ।उन्होंने  जनपद पंचायत से लेकर ग्राम पंचायत स्तर तक के प्रतिनिधियों और लोगों को टीकाकरण करने का आग्रह किया है ।






उन्होंने कहा की टीकाकरण से किसी तरह का नुकसान नहीं है इससे संक्रमण से लड़ने की क्षमता मिलती है । वही जनपद पंचायत छुरा के युवा उपाध्यक्ष श्री गौरव मिश्रा ने अपने संदेश में कहा कि लक्षण दिखे तो टीकाकरण अवश्य कराएं अपने पास के टीकाकरण केंद्र में । टीकाकरण  सुरक्षित और प्रभावशाली है । उन्होंने कहा कि टीकाकरण में सरकार का सहयोग करें ।  श्री मिश्रा ने कहा कि कोरोना वायरस से जंग जारी है जीत की पूरी तैयारी है। इसी तरह  फिंगेश्वर जनपद सदस्य श्रीमती ललिता ने छत्तीसगढ़ी में कविता के माध्यम से लोगों को समझाने का प्रयास किया है  ।उन्होंने कहा कि लक्षण दिखे तो टेस्ट अवश्य कराएं और सामान्य दिनों में 2 गज दूरी पर मास्क लगाने का नियम का  पालन करें। उन्होंने कहा कि ऐसी घातक बीमारी है जिसका अंदाजा उन्हीं को है जिनके घर में यह बीमारी आई है। उन्होंने लॉक डाउन का पालन करने और जांच करवा कर कोरोना को जड़ से मिटाने का संदेश दिया है । जिला प्रशासन के अपील के बाद क्षेत्र के जनप्रतिनिधि समाजसेवी और प्रबुद्ध नागरिक गण कोविड-19 को रोकने हेतु आगे आकर मदद कर रहे हैं अभी  क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों द्वारा ऑक्सीजन सिलेंडर भी दिया गया है । इसके अलावा जागरूकता प्रयासों में भी पीछे नहीं है ।