लॉकडाउन के लम्बे समय बाद फिर से लगी एसपी की चौपाल

लॉकडाउन के लम्बे समय बाद फिर से लगी एसपी की चौपाल

लॉकडाउन के लम्बे समय बाद फिर से लगी एसपी की चौपाल 

ग्रामीण से रूबरू होकर शिकायतों का 02 दिन में निराकरण का दिये निर्देश


 रायगढ़-लॉकडाउन के पहले एसपी श्री संतोष सिंह द्वारा आमजन के बीच जाकर उनकी शिकायतों और लंबित रिपोर्ट पर त्वरित कार्यवाही कराने के उद्देश्य से “पुलिस चौपाल” लगाने की शुरूवात की गई थी जिसे कोराना के कारण कुछ समय तक टाला गया । 

आज थाना धरमजयगढ़ परिसर में आयोजित पुलिस चौपाल में एसपी श्री संतोष सिंह द्वारा भी उक्त बातें कहकर कार्यक्रम की शुरूवात किया गया उपस्थित लोगों को वे बताये कि कोविड आने से पहले पुलिस चौपाल खरसिया, सारंगढ़ अनुविभाग से शुरू की गई थी । पुलिस चौपाल को लेकर योजना थी कि पहले यह तहसीलों में फिर विकासखंड उसके बाद बड़े ग्राम पंचायतों में जाकर लोगों की समस्याएं सुनी जायेगी और उनका त्वरित निराकरण कराया जावेगा परन्तु कोविड के आने पर इसमें कुछ समय विराम लग गया था किन्तु अब सीमिति लोगों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये यह कार्यक्रम फिर से आयोजित जावेगा ।


         उन्होंने पुलिस चौपाल का उद्देश्य आमजन तक पहुंचकर पुलिस और आमजन के बीच के भय को कम करना तथा लोगों का बताता कि पुलिस मददगार है । उन्होंने पुलिस चौपाल में आमजन खुलकर अपनी बात रखते हैं और उनका निदान होता है, बताये । 


  आज चौपाल में धरमजयगढ़ क्षेत्र के जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, मीडिया साथी, पार्षद, सरपंच, पंच सहित करीब 70 लोग उपस्थित थे । कई ग्रामीणों ने अपनी समस्याओं को मौखिक रूप से एसपी के समक्ष रखे । इस दौरान 18 लोगों ने लिखित में शिकायत प्रस्तुत किया गया जिनमें से 07 शिकायतों को निराकरण पूर्व में किया जा चुका था । जिस पर जांचकर्ता को निर्देशित किये कि शिकायतकर्ता को उनकी शिकायतों पर क्या कार्यवाही की गई है, यह विशेष रूप से बताया जाये तथ प्राप्त शिकायतों का दो दिवस में उचित कार्यवाही कर निराकरण करने के निर्देश दिये गये हैं । चौपाल में जमीन विवाद, आवास, मारपीट आदि को लेकर आमजन की शिकायतें थी कोई विशेष शिकायत संज्ञान में नहीं आया है ।  


   आगे वे वरिष्ठ नागारिकों के लिये छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा चलाये जा रहे “समर्पण अभियान” के विषय में विस्तृत जानकारी दिया गया। वे बताये कि इस अभियान के दौरान पुलिस उनके क्षेत्रों के वृद्धजनों तक पहुंयेंगी जो निराश्रित हैं अपने आपको उपेक्षित समझ रहे हैं । उनकी समस्याएं सुनी जायेगी । उनको यदि अन्य विभागों से मदद की आवश्यकता है उनमें पुलिस मदद करेगी तथा पुलिस से संबंधित उनकी कोई शिकायत, रिपोर्ट थाना चौकी स्तर पर लंबित है तो उनका तत्काल निराकरण किया जावेगा । कार्यक्रम में उपस्थित एसडीओपी व थाना प्रभारी धरमजयगढ़ को यह सुनिश्चित करने कहा गया कि किसी भी वरिष्ठ नागरिकों की शिकायत, रिपोर्ट लंबित न रहे । 


  वहीं कार्यक्रम के चौपाल में उपस्थित 35 वृद्धजनों को समर्पण अभियान का हिस्सा बनाते हुये उनका सदस्यता फार्म भरा गया और उनमें कम्बल एवं साड़ी वितरण किया गया है । 


  रायगढ़वासियों के सहयोगात्मक व्यवहार की प्रशंसा कर बताये कि जब भी रायगढ़ पुलिस की ओर से लॉकडाउन दौरान जरूरतमंदों की मदद की अपील की गई, तब रायगढ़वासियों का भरपूर सहयोग मिला है जिससे रायगढ़ पुलिस के माध्यम से कई पुनित कार्य हुये । उन्होंने क्राईम कन्ट्रोल में भी आमजन का सहयोग प्राप्त होने को पुलिसिंग के लिये महत्वपूर्ण बताये । 


   कार्यक्रम में एसडीओपी धरमजयगढ़ श्री सुशील नायक, थाना प्रभारी धरमजयगढ़ अंजना केरकेट्टा, धरमजयगढ़ ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष मंदीप कोमल, नगर पंचायत उपाध्यक्ष टार्जन भारती, सक्रिय कांग्रेस सदस्य प्रशांत टीकाराम पटेल, युसुफ छाया तथा थाना प्रभारी कापू उप निरीक्षक  धनीराम राठौर, चौकी प्रभारी रैरूमा उपनिरीक्षक जेम्स कुजूर एवं उनके स्टाफ मौजूद रहे ।