किसान परिवार की बेटी कु हेमपुष्पा चंद्रा ने सहायक प्राध्यापक के रूप में सफलता अर्जित की

किसान परिवार की बेटी कु हेमपुष्पा चंद्रा ने सहायक प्राध्यापक के रूप में सफलता अर्जित की



अंचल के पत्रकार सुदामा चंद्रा की भतीजी है हेमपुष्पा


शक्ति से संवाददाता कन्हैया गोयल की खबर


सक्ती--जिला जांजगीर चांपा के जैजैपुर तहसील अंतर्गत आने वाले छोटे से ग्राम बर्रा में  किसान नेतराम चन्द्रा की पुत्री एवं वरिष्ठ पत्रकार सुदामा चन्द्रा की भतीजी  कु. हेमपुष्पा ने अपने कठिन परिश्रम से छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में सफलता करते हुए सहायक प्राध्यापक (भौतिक शास्त्र )में चयन होकर सफलता अर्जित की है। जहां कु. हेमपुष्पा चंद्रा के सहायक प्राध्यापक के रूप में चयन होने पर पूरे ग्रामीण अंचल में हर्ष का माहौल है, वहीं इस सफलता ने यह बता दिया है कि अगर कड़ी मेहनत की जाए एवं परिवार सहित सहयोगियों का हमेशा प्रोत्साहन मिले तो दूरस्थ ग्रामीण अंचल के छात्र-छात्राएं भी सफलता अर्जित कर सकते हैं। ज्ञात हो कि  कु. हेमपुष्पा चंद्रा एक विशुद्ध किसान परिवार की बेटी होने के साथ-साथ उन्होंने अपनी संपूर्ण पढ़ाई शासकीय स्कूल एवं शासकीय महाविद्यालय में हिंदी माध्यम से की है। इस संबंध में कुमारी हेमपुष्पा ने बताया कि मेरी प्रारंभिक शिक्षा ग्रामीण अंचल में ही शासकीय स्कूल में हुई और मैंने कक्षा 1 से लेकर कक्षा बारहवीं तक का अध्ययन ग्रामीण अंचल में हिंदी माध्यम से की है तथा उच्च शिक्षा मैंने शासकीय बिलासा कन्या महाविद्यालय बिलासपुर से प्राप्त की वर्तमान समय में पिछले 2 वर्ष से कुमारी हेमपुष्पा अतिथि सहायक प्राध्यापक के रूप में शासकीय साइंस कॉलेज बिलासपुर में सेवा दे रही हैं। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अपने गुरुजन, माता पिता के  साथ-साथ परिवार जन को देते हुए कहा कि यह सभी मेरे लिए प्रेरणा स्रोत हैं । उन्होंने अपनी इस  उपलब्धि के संबंध में बताया कि मैंने कभी किसी भी तरह का कोचिंग क्लास अटेंड नहीं किया है एवं मैंने सफलता प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत एवं लक्ष्य प्राप्त करने के लिए प्रयास को महत्व दिया । कु.  हेमपुष्पा चंद्रा के सहायक अध्यापक (भौतिक शास्त्र )में चयन होने पर परिवार के सभी सदस्यों सहित पूरे ग्रामीण अंचल में खुशी की लहर देखी जा रही है