मस्तूरी पुलिस के प्रयास से दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति के नगद व जेवर चोरी होने से बचे

मस्तूरी पुलिस के प्रयास से दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति के नगद व जेवर चोरी होने से बचे

०० हजारो कि नकदी व जेवर लेकर गंतव्य के लिए निकला था व्यक्ति अचानक हुआ दुर्घटना का शिकार

०० मस्तुरी पुलिस ने दुर्घटना में घायल व्यक्ति व उनके नकदी सहित जेवर की सुरक्षा कर पेश कि मिसाल

मस्तुरी| मस्तुरी पुलिस ने सजगता व मानवता की मिसाल पेश करते हुए दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति के हजारो कि नकदी व जेवर चोरी होने के बच गए| जमीन खरीदने  के लिए जांजगीर चाम्पा जिले से एक लाख 60 हजार रुपये लेकर वापस आ रहे व्यक्ति का जयरामनगर मोड़ के पास स्वयं दुर्घटनाग्रस्त होकर अचेत पड़े हुए थे जिसे राहगीरों द्वारा मस्तूरी टी आई को सूचित किया गया। मस्तूरी टी आई ने तत्काल पेट्रोलिंग टीम को मौके पर भेजा एव पेट्रोलिंग टीम ने अचेत पड़े व्यक्ति को 112 डायल कर सीएचसी मस्तूरी भेज गया। मौके पर एक थैली पड़ी हुई थी जिसे थाने में जमा किया गया |


 

मिली जानकारी के मुताबिक अकलतरा थाना क्षेत्र का मूल निवासी सुरेंद्र बंजारे पिता साहेब लाल बंजारे वर्तमान मस्तूरी में किराए के मकान में रहता है एवं वेदपरसदा में बहुधेशिय स्वास्थ्य कार्यकर्ता के पद पर पदस्थ है।  जो कि मस्तूरी में जमीन खरीदने के लिए जांजगीर जिले से गोल्ड लोन एक लाख 60 हजार रुपये एवं सोने के जेवर साथ ही चेकबुक दो एटीएम कार्ड लेकर मस्तूरी वापस आ रहा था। वापस आते समय अंधेरा होने की वजह से जयरामनगर चौक से पहले  स्वयं दुर्घटनाग्रस्त हो जाने के कारण अचेत अवस्था मे पड़ा मिला। जिसे राहगीरों द्वारा मस्तूरी टी आई को सूचित किया गया। मस्तूरी टी आई ने तत्काल पेट्रोलिंग टीम को मौके पर भेजा। एव पेट्रोलिंग टीम ने अचेत पड़े व्यक्ति को 112 डायल कर सीएचसी मस्तूरी भेज गया। मौके पर एक थैली पड़ी हुई थी जिसे थाने में जमा किया गया। मस्तूरी पुलिस ने चोटिल व्यक्ति के बारे में जानकारी जुटाया जिसमे उन्हें मस्तूरी के ही राजेश टण्डन नामक व्यक्ति उनका रिश्तेदार है पता चला एवं उन्हें थाना बुलाया गया। रिश्तेदार के थाना पहुचने के बाद उनसे पूछताछ किया गया तब पता चला कि सुरेंद्र बंजारे जमीन खरीदने के लिए जांजगीर से नगद और सोने के जेवर लेकर आया था। कुछ समय बाद जब सुरेंद्र बंजारे को होश आया तो उसने भी बैग स्वयं का होना बताया। सारी चीजें मिलान कर लेने के बाद सुरेन्द्र बंजारे को उसका बैग वापस कर दिया गया। मस्तूरी पुलिस की सजगता से एक बार फिर बड़ी घटना होने पर लगाम लग गया।