दीक्षा के चयन पर तीरंदाजी संघ के,अध्यक्ष कैलाश मुरारका ने दी बधाई,दीक्षा का लक्ष्य ओलंपिक में बेहतर प्रदर्शन कर छत्तीसगढ़ का नाम रोशन करना है

दीक्षा के चयन पर तीरंदाजी संघ के,अध्यक्ष कैलाश मुरारका ने दी बधाई,दीक्षा का लक्ष्य ओलंपिक में बेहतर प्रदर्शन कर छत्तीसगढ़ का नाम रोशन करना है

दीक्षा के चयन पर तीरंदाजी संघ के,अध्यक्ष कैलाश मुरारका ने दी बधाई,दीक्षा का लक्ष्य ओलंपिक में बेहतर प्रदर्शन कर छत्तीसगढ़ का नाम रोशन करना है


शक्ति से संवाददाता कन्हैया गोयल की खबर


सक्ती-रायपुर जिले के मांढ़र में स्थित ज्ञानदीप विद्या मंदिर ग्रामीण क्षेत्र का एक ऐसा स्कूल है जहाँ पढ़ाई के साथ साथ खेल के क्षेत्र में भी बच्चों पर विशेष ध्यान दिया जाता है। उसी का परिणाम है कि पूर्व में नर्सरी कक्षा से लेकर बारहवी कक्षा तक विद्या अध्यन करने वाली दीक्षा नायक को वर्ल्ड कप में तीरंदाजी दिखाने का अवसर मिला है,ज्ञानदीप विद्या मंदिर के संचालक बी टी कुमार ने एक्ट इंडिया न्यूज से चर्चा के दौरान बताया कि दीक्षा नायक कक्षा नर्सरी से ही ज्ञानदीप विद्या मंदिर मांढ़र में शिक्षा प्राप्त करते हुए इंटरस्कूल, इंटर डिस्ट्रिक्ट, इंटर डिवीजन और इस तरह इंटर स्टेट में बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए ही भारतीय खेल प्राधिकरण (Sports Authority of India) ने इसका चयन किया,बी टी कुमार ने आगे बताया कि विगत दिनों से सोनीपत में चल रहे तीरंदाजी ट्रायल में टॉप 6 तीरंदाजों का चयन हुआ है जिसमें से एक दीक्षा नायक भी है। चयनित टॉप 6 तीरंदाजों में से तीन तीरंदाज कोरिया जायेंगे और तीन चाइना। अभी सभी 6 तीरंदाज सोनीपत कैंप में कोचिंग ले रहे थे। दीक्षा के चयन पर तीरंदाजी संघ के अध्यक्ष कैलाश मुरारका ने बधाई दी है,उल्लेखनीय है की जूनियर राष्ट्रीय तीरंदाजी प्रतियोगिता जो देहरादून में आयोजित थी। उसमें दीक्षा नायक ने डबल 70 मीटर में छटवां स्थान प्राप्त किया था। दीक्षा अंतराष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर में भाग ले रही थी। उनका लक्ष्य ओलंपिक जाकर बेहतर प्रदर्शन कर छत्तीसगढ़ का नाम रोशन करना है। खेलो इंडिया में शानदार प्रदर्शन के बाद खेलो इंडिया द्वारा संचालित कैंप में दीक्षा का चयन किया गया। दीक्षा लगातार वही ट्रेनिंग ले रही हैं,दीक्षा नायक गिरोध निवासी निक्को जायसवाल में कार्यरत पंकज नायक व लक्ष्मी नायक (गृहणी) की पुत्री है।