ओबीसी वर्ग के आज 3743 जातियों को एक झंडे के नीचे आने की जरूरत है-अधिवक्ता शत्रुघ्न साहू

ओबीसी वर्ग के आज 3743 जातियों को एक झंडे के नीचे आने की जरूरत है-अधिवक्ता शत्रुघ्न साहू

ओबीसी वर्ग के आज 3743 जातियों को एक झंडे के नीचे आने की जरूरत है-अधिवक्ता शत्रुघ्न साहू



धनेश्वर बंटी सिन्हा/धमतरी-अन्य पिछड़ा वर्ग संयोजन समिति के बैनर पर धमतरी जिले के नगर पंचायत भखारा में पहली बार आज 10 सितंबर 21 को ओबीसी दिवस धूमधाम से मनाकर इसकी शुरुआत की गई,जिसमें बड़ी संख्या में स्थानीय और दूरदराज से ओबीसी वर्ग के लोगों ने इस कार्यक्रम में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।

कार्यक्रम का संबोधन कर रहे अन्य पिछड़ा वर्ग संयोजन समिति के संस्थापक अधिवक्ता शत्रुहन साहू ने कहा कि गुलाम और आजाद भारत में सबसे पहले अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगों के लिए संघर्ष करने वाले और संघर्ष के लिए नींव रखने वाले बिहार प्रांत के रामलखन चंदापुरी ने आज ही के दिन  10 सितंबर 1947 को 'बिहार प्रांत पिछड़ा वर्ग संघ' के नाम से अन्य पिछड़े वर्ग के अधिकार के लिए लड़ाई की शुरुआत किया था जिसकी याद में हम आज 74 साल बाद ओबीसी दिवस मनाने  का कार्य कर रहे हैं इस ऐतिहसिक पल को यादगार बनाने के लिए यह उत्सव का शुरुवात किया गया है जिसकी साक्षी बनकर आप सब ने एक स्वर्णिम पल को महत्वपूर्ण बनाया है वास्तव में अब ओबीसी वर्ग के आज 3743 जातियों को एक झंडे के नीचे आने की जरूरत है ताकि हम शक्ति निर्माण करके जनसंख्या के अनुपात में शिक्षा व्यापार,नौकरी पदोन्नति न्यायपालिका कार्यपालिका विधायिका में समान भागीदारी के लिए अपनी लड़ाई सुनिश्चित कर सकें । प्रथम पूर्णकालिक प्रचारक टिकेश्वर साहू ने प्रबोधन में कहा कि 10 सितंबर तारीख इतिहास में अमर होने जा रहा है और वास्तव में ओबीसी वर्ग के लिए यह गौरवशाली तारीख बन गया है। राम लखन चंदा पुरी के प्रयासों से ही भारतीय संविधान में ओबीसी वर्ग के लिए धारा 340 का लिखा गया जितने भी मात्र ओबीसी वर्ग अपने संगठन तैयार करके अपने अधिकार की लड़ाई लड़ सकता है इसके अलावा और कुछ भी नहीं लिखा है लेकिन तथाकथित शासक जातियों ने धारा 370 को बनाकर और उसका प्रचार करके ओबीसी वर्ग के लोगों को सही लक्ष्य से बेदखल किया।विश्वरत्न बाबा साहब भीमराव अंबेडकर वास्तव में हमारे लिएआदर्श महापुरुष हैं,जिनकी बदौलत आज हम शिक्षा ले पा रहे हैं आजादी के साथ चल पा रहे हैं। इसकार्यक्रम में संगठन के कार्यकारी जिला संयोजक समारू सिन्हा,पूर्णकालीक प्रचारक हीरख राम साहू,संयोजक मंडल के वरिष्ठ विशाल राम साहू,चैनलाल साहू,भिखारी राम साहू,तीरथ राम साहू, भुनेश्वरराम साहू,युवा कार्यकर्ता टिकेश्वर सिन्हा,युगलकिशोर साहू, दिग्विजय सिंह साहू,गोपीकिशन साहू,प्रेमलाल साहू भूपेंद्र साहू,अजय साहू,नेकुराम साहू,त्रिलोचन साहू, यशेश्वर साहू,बुधारूराम साहू,यदुनंदन साहू, कुंभकरण साहू,चौथराम साहू,रूपराम साहू,संतोष कुमार साहू,अनिलकुमार साहू,रामनारायण साहू, प्रेमप्रकाश साहू,टेकराम साहू,अमरसिंह साहू,दुर्गा प्रसाद साहू,भगवानीराम साहू,नरेश कुमार साहू, केदारराम साहू,पवन साहू,हीरामन साहू,हीराराम यादव,राजधानी रायपुर से उपस्थित हुए विशेष कुमार बघेल,आशीष जंघेल के साथ साथ काफी संख्या में शामिल हुवे लोग।