के.आर.सिन्हा ने रोपे चंदन के पौधे : -

के.आर.सिन्हा ने रोपे चंदन के पौधे : -

के.आर.सिन्हा ने रोपे चंदन के पौधे : -

छुरा :-  स्वतंत्रता दिवस के 75 वें  वर्षगांठ को समूचे देश ने अमृत महोत्सव के रूप में हर्षोल्लास के साथ मनाया। अमृत महोत्सव के पावन अवसर पर सेवानिवृत्त व्याख्याता के. आर. सिन्हा ने बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय छुरा प्रांगण में औषधीय पौधे चंदन का रोपण किया। विदित हो कि के.आर.सिन्हा 44 वर्षों तक गणित और कॉमर्स के आदर्श शिक्षक के रूप में देश सेवा किये। इस विद्यालय में 26 वर्षों तक उच्च श्रेणी शिक्षक से व्याख्याता और शिक्षकों के दूरस्थ माध्यम से संचालित डीएड के समन्वयक प्राचार्य तक का सफर तय किये। इस दौरान उनके मार्गदर्शन में स्काउट/गाइड के कई बच्चों ने राज्यपाल पुरस्कार, राष्ट्रपति पुरस्कार और प्रधानमंत्री अवार्ड प्राप्त किया। ओपन विद्यालय के प्राचार्य भी रहे। शाला के विभिन्न प्रभारो को भी बखूबी निभाए । अमृत महोत्सव की स्मृति को अक्षुण्ण बनाने के लिए उन्होंने चंदन के पौधे का रोपण किया । वे शिक्षक होने के साथ साथ जड़ी-बूटी विशेषज्ञ, नाड़ी वैद्य के रूप में भी जाने जाते हैं। उन्होंने कहा कि चंदन एक अत्यंत गुणकारी औषधि है और भगवान भोलेनाथ को अतिप्रिय है । यह चर्म रोग, मुंहासों की समस्या, पेट रोग,  आंखों की बीमारी, सिरदर्द, यौन रोग, मूत्र रोग आदि में बहुत ही कारगर औषधि है ।  पित्त को शांत कर त्रिदोष नाशक के रूप में भी उपयोग किया जाता है। इस अवसर पर प्राचार्य एन. सी. साहू ने कहा कि हमारे विद्यालय को हरा भरा रखने के लिए सदाबहार पौधों के साथ औषधीय, फलदार पौधे और सुगंधित पुष्पों के पौधों का भी रोपण किया है जिससे बच्चे प्रकृति से जुड़े रहे। इस अवसर शाला के पीटीआई पी.एस.ठाकुर,व्याख्याता विनोद देवांगन, केशव प्रसाद साहू, टीके साहू,कैलाश पटेल,सुश्री पूजा मिश्रा, शिक्षकगण सुशील पांडे, मानसिंह मारकंडे, आरती बंजारे, भारती बंजारे, परागा ध्रुव, शालेय कर्मचारीगण गजराज बंजारे, आशीष मारकम, गुप्ता मैडम, देवशरण आदि उपस्थित रहे।