घर मे सास बहू मे चल रहे खटर पटर को खत्म किये पीएम के इस योजना ने

घर मे सास बहू मे चल रहे खटर पटर को खत्म किये पीएम के इस योजना ने

सफलता की कहानी

बना सुंदर आशियाना फासले भूल एकजुट हुए संयुक्त परिवार


----------------------------------------------------------

राजनांदगांव-आज की भागदौड़ जिन्दगी में अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए संयुक्त परिवार टूटते जा रहे हैं और लोग परिवार के सदस्यों से भी दूर होते जा रहे हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत एक परिवार को फिर से मिलाने का प्रयास किया गया। गौरीनगर में कच्चे मकान में एक ही परिवार के श्रीमती सोनबती साहू और श्रीमती सरस्वती साहू का परिवार रहता था। परिवार में सास-बहू की खटर-पटर होने पर घर में दो चूल्हे बन गए थे। ये दोनों परिवार अगल-बगल में रहकर भी एक दूसरे से दूर थे। प्रधानमंत्री आवास योजना के घटक मोर जमीन मोर मकान योजना के तहत उन्होंने अपने घर को बनाने की तैयारी शुरू की। इस दौरान आर्किटेक के समझाने पर कि आप दोनों आपस में मिलकर अपने आवास का निर्माण करते हैं तो आवास निर्माण में जो खर्च आएगा उसमें कुछ कटौती हो सकती है। दोनों परिवारों को बात समझ में आई और फिर दोनों परिवार एक साथ मिलकर अपने आवास को सुन्दर और सुविधायुक्त बनाने में जुट गए। आवास के साथ-साथ उन्होंने रिश्तों को भी संजोकर नया रूप दिया। शासन की यह योजना गरीब एवं जरूरतमंदों के लिए मददगार है। जिसके लिए उन्होंने शुक्रिया अदा किया।

----