व्यवहार न्यायलय पाली में हुआ नेशनल लोक अदालत का आयोजन,लगभग तीन दर्जन मामलों का हुआ निराकरण

व्यवहार न्यायलय पाली में हुआ नेशनल लोक अदालत का आयोजन,लगभग तीन दर्जन मामलों का हुआ निराकरण

व्यवहार न्यायलय पाली में हुआ नेशनल लोक अदालत का आयोजन,लगभग तीन दर्जन मामलों का हुआ निराकरण


दीपक शर्मा/कोरबा/पाली:-राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण बिलासपुर के निर्देशानुसार तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कोरबा के जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष श्री डी. एल. कटकवार के आदेशानुसार 14 मई 2022 को व्यवहार न्यायालय पाली में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया, नेशनल लोक अदालत में सभी प्रकार के प्रकरणों को राजीनामा के आधार पर निराकृत करने हेतु अपील किया गया एवं PLV के द्वारा पाम्पलेट बांटकर, चिपकाकर भी नेशनल लोक अदालत का प्रचार- प्रसार किया गया परिणाम स्वरूप न्यायालय में धारा 258 दं.प्र.सं की 2 प्रकरण 38 अपराधिक प्रकरण, 5 सिविल प्रकरण, 3 चेक बाउंस का प्रकरण, एवं प्रिलितिगेशन का 136 प्रकरण कुल 198 प्रकरण राजीनामा हेतु रखा गया था  जिसमें से *33 प्रकरण* निराकृत किया गया चेक बाउंस एवं प्रिलितीगेशन प्रकरण में कुल *121321 रुपए* का वसूली हुआ इस लोक अदालत में *5 वर्ष से अधिक दिनों के 1 मामला* को भी निराकृत किया गया।


   उक्त नेशनल लोक अदालत में व्यवहार न्यायालय पाली के व्यवहार न्यायधीश स्वेता मिश्रा के प्रयास एवं समस्त अधिवक्ताओं का भरपूर सहयोग से नेशनल लोक अदालत में प्रकरणों का निराकरण किया गया नेशनल लोक अदालत को सफल बनाने में व्यवहार न्यायालय पाली के न्यायधीश स्वेता मिश्रा एवं समस्त अधिवक्तागण पाली, न्यायिक कर्मचारीगण, विधिक सेवा के कर्मचारी तथा PLV  पाली का योगदान रहा, प्री लिटिगेशन मामले पेश करने हेतु नगरपंचायत, सीएसईबी, और सभी बैंकों को सूचना पत्र दिया गया था किन्तु नगर पंचायत एवम् CSEB पाली के द्वारा एक भी प्रकरण पेश नहीं किया गया इस कारण पानी बिल एवम् बिजली बिल से संबंधित प्रभावित लोगों को नेशनल लोक अदालत का लाभ नहीं मिल सका।