रेत कि अवैध उत्खनन, दर्जनों ट्रक हुई जप्त, सनावल थाने को किया सुपुर्द

रेत कि अवैध उत्खनन, दर्जनों ट्रक हुई जप्त, सनावल थाने को किया सुपुर्द

रेत कि अवैध उत्खनन, दर्जनों ट्रक हुई जप्त, सनावल थाने को किया सुपुर्द




रोहित यादव/बलरामपुर-बलरामपुर जिले के विकासखण्ड रामचंद्रपुर के ग्राम पंचायत हरिहरपुर के कनहर नदी से एक बार पुनः रेत की अवैध उत्खनन कर उत्तरप्रदेश भेजने का सिलसिला शुरू हो गया है बीते रात्रि खनिज विभाग के टीम ने दर्जनों ट्रक जप्त कर सनावल थाने को सुपुर्द कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

 गौरतलब है कि 15 जून के बाद से।पूर्ण भारत मे NGT लग गई है इस अवधि में नदियों से रेत का उठाव पूर्णतः प्रतिबंधित रहता है इसके बावजूद रामानुजगंज विधानसभा अंतर्गत सत्ता पक्ष के स्थानीय नेताओं को रेत का भूख ऐसा भरी बरसात में भी हरिहरपुर और फुलवार के कनहर नदी से रेत का अवैध उठाव कर ट्रक भरते हैं और दर पर ही प्रति ट्रक 30 से 40 हजार में उत्तरप्रदेश के रेत के ठेकेदारों को बेच दिया जाता है, बताया जा रहा है कि उत्तरप्रदेश के रेत माफिया रामानुजगंज विधानसभा के सत्ता पक्ष के स्थानीय नेताओ के संपर्क में रहते हैं और तो और सत्ता पक्ष के नेताओं द्वारा बजाप्ता उन्हें रेस्ट हाउस भी उपलब्ध कराया जाता है जहाँ उत्तरप्रदेश के रेत माफिया ठहरे हुए होते हैं, बताया जा रहा है कि रात्रि 08 से 10 बजे के बीच उत्तरप्रदेश से ट्रकों के आने का सिलसिला शुरू होता है और घांट पर 40 से 50 ट्रक एकत्र होने के बाद रात भर जेसीबी और पोकलेन से रेत लोड किया जाता है इसी बीच रात्रि 2 से 3 बजे के बीच सत्ता पक्ष के नेता महंगी कार से घांट पर आ जाते हैं और वे प्रति ट्रक 30 से 40 हजार (जो दर तय रहती है) मौके से नगद प्राप्त करते हैं lऔर ट्रैफिक पुलिस के भांति एक एक करके ट्रकों को निकालते हैं, सूर्योदय से पहले रेत से भरी ट्रक छत्तीसगढ़ के सीमा छोड़कर उत्तरप्रदेश पहुंच चुकी होती है हैरत कि बात ये है कि इस दौरान कई चेकपोस्ट और पुलिस थाने पड़ते हैं फिर भी यह अवैध उत्खन और परिवहन काफी लंबे समय से फल फूल रहा है, बीते रात्रि भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला रेत भरी ट्रक जब घांट से निकली तो स्थानीय ग्रामीणों ने ट्रक को रोककर खनिज विभाग को सूचित किया ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची खनिज विभाग की टीम ने 10 ट्रक को पकड़कर सनावल थाने को सुपुर्द कर आगे की करवाई में जुट गई है, बताया जा रहा है कि उस अवैध उत्खनन का हिस्सा जिला से होते हुए रायपुर तक पहुंचती है यही कारण है कि इस रेत के अवैध उत्खनन पर अंकुश लगा पाना कठिन प्रतीत हो रहा है, उधर भाजपा युवा मोर्चा ने भी अपनी मोर्चा खोल दिया है और स्पष्ट चेतवानी दी है कि यदि जिला प्रशासन इस अवैध उत्खनन को नहीं रोक सकती तो युवा मोर्चा के लोग सड़क पर उतरकर इसका विरोध करेंगे साथ ही अवैध उत्खनन को भी रोकेंगे, युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने चैलेंज किया है कि छत्तीसगढ़ के नदियों से अवैध रूप उत्खन किया हुआ रेत का एक छटाक भी उत्तरप्रदेश नहीं जाने देंगे भले ही इसके लिए चाहे कितनी भी लड़ाई क्यों न लड़नी पड़े।।