जिला सहकारी संघ मर्यादित जिला गरियाबंद की वार्षिक साधारण सभा सम्पन्न

जिला सहकारी संघ मर्यादित जिला गरियाबंद की वार्षिक साधारण सभा सम्पन्न

छुरा। जिला सहकारी संघ मर्यादित जिला गरियाबंद की वार्षिक साधारण सभा 22 दिसम्बर को किसान राइस मिल परिसर गरियाबंद में आयोजित किया था। 

 इस वार्षिक साधारण सभा के मुख्य अतिथि डायरेक्टर पुन्नू लाल कुटारे गरियाबंद थे। अध्यक्षता जिला  सहकारी समिति के आडिट आफिसर सुभाष कोल्हे ने किये। वही विशेष अतिथि बतौर जिला वनोपज के जिला प्रतिनिधि व वर्तमान जनपद सदस्य नीलकंठ सिंह ठाकुर, वनोपज जिला प्रतिनिधि नीलगिरी गोस्वामी धवलपुर उपस्थित थे। 

  कार्यक्रम का संचालन जिला सहकारिता के वरिष्ठ सहायक निरीक्षक पी सी ध्रुव ने किया।  पी सी ध्रुव ने रायपुर जिला से विभाजन  के पश्चात आय व्यय की जानकारी दी। तथा आगामी वर्ष में किये जाने वाली एजेण्डा को विस्तार से रखा। 

 विशेष अतिथि नीलकंठ सिंह ठाकुर ने कहा कि सहयोग ही तो सहकारिता है। लोग सहकारिता क्या है ? समझ नही पा रहे है। प्रचार  प्रसार कर जागरुक करें। शादी जब हम करते हैं तो उस वक्त भी सहयोग से करते हैं  ।वही तो सहकारिता है। आज मछुआ समिति, बुनकर समिति, लघु वनोपज  समिति, दुग्ध  समिति जैसे अनेक समिति के लिए प्रेरित किया जा सकता है  । इसके लिऐ कर्मचारी व कम्पूटर  बहुत जरुरी है  कहते हुए अल्पवेतन मान के कर्मचारी को सही समय में  वेतन प्राप्त हो।  हाथ नही तो  काम नही, कहा। 

कुटारे ने कहा  कि पुरा समाज सहकारिता  से जी रहा है। सहयोग के बगैर कुछ भी सम्भव नही है  कहा। उन्होने  नीलकंठ सिंह ठाकुर के विचारों को समर्थन किया। 

 गोस्वामी डायरेक्टर ने गुजरात में  सहकारी समितियों द्वारा कार्यो का आँखो देखा हाल सुनाया।  अध्यक्षता कर रहे कोल्हे जी ने अभार प्रदर्शन करते हुवे कहा कि गरियाबंद जिला सहकारिता के क्षेत्र में अभी बच्चा है। शुन्य से सहकारिता  को खड़ा करना है। इसके लिए सभी जनप्रतिनियों की सहयोग की जरूरत है। 

 इस मौके पर  संचालक गणो में मगनन सिंग, प्रभु लाल, मनटोराबाई, कमला बाई, हेम लाल सिंहा,आलोक सिंहा,लक्की सिंहा सहित बडी़ संख्या में जिला के पदाधिकारी गण उपस्थित थे।