खुद को रईसजादा बता कर बालिका को दिया था झासा-बंधक बना किया दुष्कर्म

खुद को रईसजादा बता कर बालिका को दिया था झासा-बंधक बना किया दुष्कर्म

खुद को रईसजादा बता कर बालिका को दिया था झासा-बंधक बना किया दुष्कर्म


बालिका को कार बंगला पैसा देने के एवज में करता था दुष्कर्म


गरियाबंद -नाबालिक को झांसा देकर अपहरण करने और दुष्कर्म करने के दो अलग अलग मामलों के आरोपियों को पकड़ने में पुलिस को सफ़लता मिली है। इसमें से एक आरोपी को मध्यप्रदेश के हरदा जिले से गिरफ़्तार किया गया। वही एक अन्य मामले में विवाहिता से अनाचार का प्रयास करने वाला भी पुलिस की हिरासत में है।


 जिले में महिला सबंधी अपराधों को कम करने एवं प्राप्त शिकायतों के त्वरित निराकरण की पुलिस कप्तान भोजराम पटेल के विशेष निर्देश पर जिला पुलिस चुस्त है। और ऐसे मामलो को गम्भीरता से ले रही है। इसी बीच फिंगेश्वर निवासी एक व्यक्ति ने 29 नवंबर को फिंगेश्वर थाना पहुँच शिकायत लिखवाई की उसकी नाबालिक लड़की को अज्ञात व्यक्ति ने 26 नवंबर को बहला फुसलाकर अपहरण कर लिया है। पुलिस ने धारा 363 भादवि के तहत मामला पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया। पुलिस कप्तान श्री पटेल के निर्देश पर अति . पुलिस अधीक्षक  सुखनंदन राठौर , अनुविभागीय अधिकारी पुलिस  संजय ध्रुव के मार्गदर्शन के आधार पर फिगेश्वर थाना प्रभारी भूषण चंद्राकर के नेतृत्व में स्पेशल टीम अपहृता की पतासाजी हेतु गठित किया गया । 

  जाँच के दौरान नाबालिक का मध्यप्रदेश के हरदा जिले में होना पता चल। जिस पर विशेष टीम ने योजना बनाकर आरोपी पदम सिंह राजपूत पिता रामसिंह राजपूत उम्र 26 वर्ष साकिन वार्ड नं . 5 खिरकिया , थाना छीपाबड़ , जिला हरदा ( म.प्र .) के चंगुल से 16 दिसबंर को नाबालिक को आज़ाद कराया। और उस वापस फिंगेश्वर ला कर परिजनों के सुपुर्द कर दिया। वही आरोपी पदम् सिंह से पूछताछ पर उसने बताया कि एक दिन नाबालिक के मोबाईल फोन पर किसी अनजान व्यक्ति का मिस काल आया । नाबालिक द्वारा उस नम्बर पर काल - बैक किया गया । उसके बाद आरोपी कई दिनो तक अपने मोबाईल से उससे को बार - बार फोन करता रहा और उससे दोस्ती कर ली । आरोपी स्वयं को बहुत धनवान बता कर अपने पास कार बंगला होना भी बताया था। बताता था । उसने बालिका को पैसे , कार , बंगला देने , और बड़ी - बड़ी जगह घुमाने की बात कही और और अपने झांसे में लेकर  दिनांक 26.11.2020 को अपने मोटर साईकल MP 04 MM 4707 से बैठाकर बड़े शहर घूमाने के बहाने अपने घर खिरकिया थाना छीपाबड़ जिला हरदा म ० प्र ० ले गया । जहाँ उसने पीड़िता को अपने घर में छिपाकर उसे डरा - धमकाकर कई दिनों तक दुष्कर्म किया । आरोपी के विरूद्ध प्रकरण में धारा 366 , 376 ( 2 ) ( ड ) भादवि , 6 पाक्सो एक्ट भी जोड़ा गया। उक्त कार्यवाही में थाना फिंगेश्वर से सउनि डोलामणी सिदार , प्रआर 0 राजकुमार साहू , आर 0 भुषण निषाद , महिला सैनिक पिंकी ध्रुव का सराहनीय योगदान रहा ।

 इसी तरह एक अन्य घटना में पांडुका थाना इलाके में भी नाबालिक से अनाचार करने के मामले में आरोपी को गिरफ़्तार किया गया। घटना 30 नवंबर 20 की है। आरोपी राजू जांगड़े पिता बलराम जांगड़े उम्र 24 वर्ष निवासी पतोरी(बतोरी) थाना फिंगेश्वर नाबालिक लड़की को बहला कर भगा ले गया। जिस पर तुरंत पांडुका थाना में जाँच दल बनाकर आरोपी की पतासाजी की गई। पता चला की आरोपी राजू 17 दिसबंर को ग्राम कुटेना में मनोज मार्कण्डेय के पोल्ट्री फार्म में काम करने आया है। पता लगते ही पुलिस ने आरोपी को धर दबोचा और हिरासत में लिया जहाँ से न्यायिक हिरासत में गरियाबंद उप जेल भेज दिया गया। उक्त कार्यवही में निरीक्षक बसत कुमार बघल सजान ० भैय्या लाल कवर , प्र 0 आर 0 293 ललीत साहू , आरक्षक चमन कुर्रे , जितेन्द्र निर्मलकर मोहित धुव , महिला आरक्षक सकुन्तला कौशिक , महिला सैनिक भुनेश्वरी निषाद की सराहनीय भुमिका रही ।

वही एक अन्य मामले दुष्कर्म का प्रयास करने के आरोपी को भी पकड़ने में सफलता मिली। मामला गरियाबंद थाना का है। जिसमे प्रार्थिया ने रिपोर्ट दर्ज कराई की 15-16 दिसबंर की दरम्यानी रात्रि लगभग 1-2 बजे के बीच जब वह सोई थी तो कोई उसके कमरे में घुस आया और उसके साथ दुष्कर्म की कोशिश करने लगा। अचानक जब नींद खुली तो उसने शोर मचाया। जिस पर आरोपी पुरषोत्तम सिन्हा निवासी बरबाहरा थाना गरियाबंद जिला गरियाबंद भाग गया। 

 महिला की शिकायत पर त्वरित कार्रवाई करते हुए गरियाबंद थाना पुलिस ने आरोपी को धर दबोचा और हिरासत में लिया। उसके खिलाफ धारा 457, 354, 354 (क) के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया