जंगलो में जल संकट गहराया- प्यास बुझाने के लिए भटक रहे जानवर

जंगलो में जल संकट गहराया- प्यास बुझाने के लिए भटक रहे जानवर

जंगलो में जल संकट गहराया- प्यास बुझाने के लिए भटक रहे जानवर


 गरियाबंद/पाण्डुका:- जंगलो से लगे हुए ग्रामीण क्षेत्रों में भीषम गर्मी के हलातो को देखते हुए बेजुबान वन्य प्राणियों के लिए मुसीबत बन गयी है। वहीं ग्राम मुरमुरा के नहर के पास भैंसामुडा तालाब के पास लगभग 10-15 के दल में जंगली जानवर गौर जो वन भैसा के प्रजाती के कहा जाता है। उसके दल पानी के तलासो के भैंसामुडा तालाब के पास मंडरा रहा था। जैसे-जैसे गर्मी बढ़ती जा रही है जंगलो के तालाब, नाले के साथ- साथ कई जानवरों का भोजन घास फूस भी सूखते जा रहे है। जंगलो में विभिन्न प्रजाति के वन्य प्राणी मौजूद है जैसे - खरगोस, हिरन, जंगली सुवर, लोमड़ी, तेदुआ, भालु, गौर, जैसे अनेक प्रकार के जानवरों के लिए पानी की गंभीर समस्या उत्पन्न हो रही है। जो इन दिनो पानी के लिए दर-दर भटक रहे है। अगर जंगली जानवर पानी के तलाश में गांव की ओर आने लगे तो वन्य प्राणी के हमले की आशंका हो सकती है। जहा आम जन मानस के शरीर का पसीना नही सूख रहा तो जंगली जानवर का क्या हाल होगा।



आपको बता दे कि अभी हाल ही में एक भालू की मौत गर्मी की वजह से हुई हैं यदि जिम्मेदार इस ओर कोई ठोस कदम नही उठाते हैं तो जंगलों में रहने वाले प्राणी रहवासी इलाको में दस्तक देकर किसी बड़े घटना को अंजाम देंगे ।