कांग्रेस आपसी लड़ाई में मस्त, रेत तस्कर हुए व्यस्त- अनूप

कांग्रेस आपसी लड़ाई में मस्त, रेत तस्कर हुए व्यस्त- अनूप

कांग्रेस आपसी लड़ाई में मस्त, रेत तस्कर हुए व्यस्त- अनूप


खतरे में नदी-नालों का अस्तित्व, एनजीटी गाइडलाइन का खुलेआम उल्लंघन


चन्दन गुप्ता/सूरजपुर-भारतीय जनता युवा मोर्चा भटगांव मंडल उपाध्यक्ष व सांसद प्रतिनिधि अनूप जायसवाल ने छत्तीसगढ़ राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा है और प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा है कि पूरे प्रदेश में हाहाकार मचा हुआ है आम जनता का एक भी कही कोई काम नहीं हो रहा है कहीं काम हो भी रहा है तो कांग्रेसी नेताओं का ही काम किया जा रहा है कांग्रेस सरकार में अगर कोई काम दिखाई दे रहा है तो वह केवल रेत, गौ तस्करी, कोल तस्करी सहित अपने चहेते को काम चल रहा है। 


रेत माफिया बड़े नदी-नालो में घूम रहे हैं और अवैध उत्खनन कर रेत बाहर भेजा जा रहा है जिसके चलते नदियों का अस्तित्व समापन की ओर है जिस तेजी से नदियों का दोहन हो रहा है आने वाले समय में पूरी नदियों ही समाप्त होती दिख रही है रेत माफिया रिजर्व फॉरेस्ट तक को नहीं छोड़ रहे है प्रदेश में ऐसी स्थिति शराब को लेकर भी है सरकार ही शराब माफियाओं का काम करने लगी है आम जनता से सरकार को कोई सरोकार नहीं रह गया है छत्तीसगढ़ में रेत माफियाओं का आतंक इस तरह है कि सूरजपुर जिले के विगत दिनों एक खनिज अधिकारी हो ग्रामीणों ने पिटाई की थी और वाहन की भी तोड़फोड़ कर दी थी।


कांग्रेस के अंदर पहले भी कुछ ठीक नही चल रहा था और अब भी नही चल रहा है जिसका जीता-जाता उदाहरण कांग्रेस विधायक बृहस्पति सिंह द्वारा स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव पर लगाए आरोप के बाद दिख रहा है। हालांकि विधानसभा में विधायक बृहस्पत सिंह ने भावावेश में आकर टीएस सिंहदेव पर आरोप लगा दिया था। इसके लिए खेद व्यक्त किया है। लेकिन कहीं न कहीं कांग्रेस के अंदरखाने में ढाई साल वाला मुद्दा बरकरार है? कांग्रेस में कुर्सी की लड़ाई चल रही है। राज्य का विकास कार्य शून्य है।


इधर एनजीटी गाइडलाइंस के अनुसार 10 जून से 15 अक्टूबर तक रेत उत्खनन व परिवहन नहीं किया जा सकता। लेकिन सरकार के संरक्षण में रेत तस्कर अवैध रेत उत्खनन कार्य धड़ल्ले से कर रहे हैं। जिससे लाखों-करोड़ों के राजस्व का नुकसान हो रहा है।