आध्यात्मिक केंद्र में शिव जी के महिमा पर प्रकाश डाला गया

आध्यात्मिक केंद्र में शिव जी के महिमा पर प्रकाश डाला गया

आध्यात्मिक केंद्र में शिव जी के महिमा पर प्रकाश डाला गया



छूरा : महाशिवरात्रि का पावन पर्व क्षेत्र वासियों द्वारा भाव भक्ति से उत्साह पूर्ण माहोल में मनाया गया।मंदिर ,देवालयों में ओम नम: शिवाय का जप चलता रहा,व  भक्तो का तांता लगा रहा।क्षेत्र के आध्यात्मिक संस्थान  प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय खड़मां के ओम शांति भवन में परम पिता परमात्मा शिव की अवत्रण दिवस को  85 वी त्रिमूर्ति शिव जयंती के रूप में मनाया गया।सेवाकेंद्र की संचालिका ब्रम्हकुमारी अंशु दीदी ने सभी ब्रह्मावत्सो व ग्रामवासी एवम् समाज प्रमुखों की उपस्थिति में शिव ज्योतिर्लिंग की पूजा अर्चना कर शिव ध्वजारोहण किया।साथ ही दीप प्रज्जवलित कर केक काटे गए।


एवम् अपने उदबोधन में सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज महाशिवरात्रि का पावन पर्व परमात्मा की अवतरण के यादगार में मनाया जाता है ,वास्तव मे देखा जाए तो परम पिता परमात्मा जो सर्व आत्माओं के पिता है। जो मानव समाज में व्याप्त अज्ञान अंधकार को दूर करने हेतु अवतरित होते हैं। व अज्ञानता रूपी अंधकार में भटकते हुए पतित मानव को आत्म ज्ञान का प्रकाश दे कर एक नया दिव्य जन्म दे आध्यात्मिक ऊर्जा से भरपूर करते है। 

        उनहोने शिव और शिवरात्रि के आध्यात्मिक महत्व विषय पर प्रकाश डालते हुए कहा कि पूजा,आराधना,एवम् व्रत उपवास आदि से भक्तो को जितना लाभ मिलता है ,उससे कई गुना अधिक वरदानों एवम् आंतरिक सुख शांति की प्राप्ति परमात्मा शिव और दिव्य जन्म का आध्यात्मिक अर्थ सहित मानने से होती हैं।परमात्मा शिव की वास्तविक।निराकार रूप की पहचान  तथा राजयोग द्वारा  उनके साथवअंतरात्मा के सर्व संबंधों की याद से ही मनुष्य अपने पापो को भस्म कर सांसारिक जीवन में सर्व प्रकार की सफलता एवम् समृद्धि को  प्राप्त कर सकता है। इस अवसर पर  यादराम साहू अगहन सिंग ठाकुर, गोविंद यादव ,हेमलाल यादव, शिवशंकर यादव ,किशोर साहू, तिहार सिंह ध्रुव,अलख राम,लवण साहू ,तेजस्वी यदु, लीमन निषाद, नारायण निषाद, देवापी सोनी, रोहित यादव, सहित बड़ी संख्या में माताएं, बहने, व समाज प्रमुख ,ग्रामवासी उपस्थित रहे।