पार्टियां राजनीति नही रणनीति बनाकर कोरोना का मुकाबला करें :- पत्रकार तरूण यदु

पार्टियां राजनीति नही रणनीति  बनाकर कोरोना का मुकाबला करें :- पत्रकार तरूण यदु

पार्टियां राजनीति नही रणनीति  बनाकर कोरोना का मुकाबला करें :- पत्रकार तरूण यदु


फिंगेश्वर-प्रतिबंधों और लॉकडाउन के निर्णय जैसे कठोर कदमो के बावजूद छत्तीसगढ़ के साथ हमारे देश मे कोरोना की दूसरी लहर पर लगाम नही लग पा रही है ,कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण लगातार मौते भी हो रही है, 

ऐसे कठिन समय मे किसी भी विषय मे राजनीति करना सही नही हैं, आरोप प्रत्यारोप राजनीतिक छिटाकसी ये कोरोना के बाद भी किया जा सकता हैं, परन्तु राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे के ऊपर आरोप प्रत्यारोप का जो सिलसिला हैं, वह ख़त्म ही नही हो रहा है, हालांकि चावल,राशन, लॉकडाउन , वैक्सीन, शराब, जमाखोरी, अवैध शराब, ओवर रेट, हॉस्पिटल बेड, ऑक्सीजन, शव वाहन, तिहाड़ी मजदूर, आदि बहुत सारे मुद्दे है ,जिस तमाम मुद्दों के ऊपर राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे के ऊपर आरोप या सत्ता पक्ष बचाव करती है,

ऐसे समय मे समन्वय से काम लेते हुए एकजुट होकर सभी राजनीतिक पार्टियों व आमजनों को काम करना चाहिए, क्योकि ये वैश्विक महामारी हैं, कोरोना किसी को भी हो सकता हैं, ऐसे में समस्या को समझने हुए उसके निराकरण का सोचना चाहिए, बावजूद अगर कोई सरकारी सिस्टम लापरवाही करता हैं, तो उसपर कार्यवाही होनी चाहिए,



*कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक, लग सकता है सेंध*


कोरोना की दूसरी लहर बेहद ही खतरनाक माना जा रहा है, विश्व स्वास्थ्य संगठन की वैज्ञानिक डॉ सौम्य स्वामीनाथन  का मानना है कि यह दूसरी लहर बी 1.617 वेरिएंट के कुछ संक्रमण को बढ़ा देते है और वैक्सीन  या प्राकृतिक( शारीरिक) रूप से बनने एंटीबाडी को बनने से रोक देता है, इसलिए इस वायरस से बच कर रहना बेहद जरूरी हैं,

मानव शरीर वैसे तो छोटे रोगों से लड़ने में सक्षम हैं, पर कोरोना से लड़ने के लिए ज्यादा इम्युनिटी पॉवर की जरूरत होती हैं, 



*लोगो की मदद करने वाले जनप्रतिनिधियों का शुक्रिया*


वैश्विक महामारी कोरोना में बहुत से जनप्रतिनिधि ऐसे भी है जो निःस्वार्थ भाव से लोगो की सेवा कर रहे है, तो कुछ सिर्फ मोबाइल से ही नेतागीरी कर रहे है,

ऐसे जनप्रतिनिधियों को मैं दिल से धन्यवाद देना चाहूंगा जो जरूरत मंद लोगो की सेवा करते है, और उन जनप्रतिनिधियों से भी आग्रह करना चाहूंगा कि इस कोरोना संकट के समय राजनीति ना करे, बल्कि रणनीति बनाकर लोगो के काम आ सके, जिस उद्देश्य से उसे जनता ने जनप्रतिनिधि बनाया हैं उसकी पूर्ति हो सकें,...!