छुरा ब्लाक में तीन दिन में 12 वैक्सीनेशन सेंटर में सिर्फ 60 लोगो ने ही लगवाये टीके-फिर भी छुरा ब्लाक को जिले में कोविड वैक्सीनेशन मामले में अव्वल बताया जा रहा है

छुरा ब्लाक में तीन दिन में  12 वैक्सीनेशन सेंटर में सिर्फ 60 लोगो ने ही लगवाये टीके-फिर भी छुरा ब्लाक को जिले में कोविड वैक्सीनेशन मामले में  अव्वल बताया जा रहा है

छुरा ब्लाक में तीन दिन में  12 वैक्सीनेशन सेंटर में सिर्फ 60 लोगो ने ही लगवाये टीके-फिर भी छुरा ब्लाक को जिले में कोविड वैक्सीनेशन मामले में  अव्वल बताया जा रहा है


वैक्सीनेशन के फायदे के आगे अफवाह भारी -जाने क्या क्या बहाने बना रहे लोग



कुलेश्वर सिन्हा 

गरियाबंद/छुरा - जिला गरियाबंद में कोविड वैक्सीनेशन करवाने सरकार लगातार प्रयास कर रही है । वैक्सीनेशन के लिए  पहले प्राथमिकता अंत्योदय कार्डधारकों को दिया गया है । 

इस तरह छुरा ब्लाक में भी कोविड वैक्सीनेशन की व्यवस्था  जोर शोर से संचालित की गई हैं । उम्मीद थी कि जिस तरह बुजुर्गों ने कोविड वैक्सीनेशन का फायदा उठाया उसी तरह 18 वर्ष से लेकर 44 वर्ष के  उम्र के लोग भी फायदा उठाएंगे  । लेकिन स्वास्थ्य विभाग के इस उम्मीद में पानी फिर गया । 



आपको बता दे कि  छुरा ब्लाक में अन्त्योदय के तहत  7927 से अधिक परिवार निवासरत है ।  ब्लाक में इन्ही परिवारों का प्रथम टीकाकरण होना है । लेकिन इन परिवारों की निष्क्रियता से स्वास्थय विभाग  ने नाराजगी जाहिर की है ।

बता दे कि स्वास्थय विभाग  कोविड वैक्सीनेशन को  लेकर सख्त है । जिसके चलते   3 मई की शाम 6 बजे तक  स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त आंकड़े के अनुसार  कोविड वैक्सीनेशन के लिए  लगभग 12  सेंटर पूरे ब्लाक में  बनाये गए हैं । वही इन सभी सेंटरों में महज 60 लोगो ने ही  अबतक  टीकाकरण करवाया ।  जबकि इस आंकड़े को  सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र छुरा  जिले में सबसे अधिक बता रहे  है ।जबकि आज टीकाकरण का तीसरा दिन है ।  इस तरह लोगो के निष्क्रियता के चलते स्वास्थ्य विभाग के कर्मी निराश है 


वही  जानकारी के अनुसार छुरा ब्लाक में  संक्रमण की दर 100 में 25 % बताई जा रही ।  जबकि यही दर 2 दिन पहले 50  % थी ।  प्रतिदिन यहां 100 से अधिक लोगो का कोविड चेकप हो रहा है । चेकप किट भी पर्याप्त बताई जा रही है ।

यदि लोगबाग जल्द जागरूक नही हुए  तो सिर्फ अंत्योदय कार्डधारकों का वैक्सीनेशन करने में लम्बा वक्त लग सकता है। क्योकि छुरा ब्लाक में सिर्फ अंत्योदय के तहत 7927  से अधिक परिवार  से निवासरत है ।


वही स्वास्थ्य विभाग के  अधिकारी व कर्मचारियों के द्वारा लगातार जनप्रतिनिधियों , ग्राम के मुखिया, मीडियाकर्मियों  को व्यक्तिगत फोन लगाकर कोविड वैक्सीनेशन के लिये सेंटर में लोगो को भेजने के लिए कहा जा रहा है लेकिन इस ओर लोग वैक्सीनेशन को लेकर सीरियस नही है ।



छुरा ब्लाक में अंत्योदय के तहत  7927 परिवार- जिम्मेदारों के लिए बनी माथापच्ची


छुरा ब्लाक ग्राम पंचायत पटपरपाली के सचिव पिलादाऊ पटेल ने बताया कि अन्त्योदय के तहत घर घर जाकर हमारे पंचायत टीम व स्वास्थ्य विभाग द्वारा जागरूक किया जा रहा है । लोगो को  अफवाहों के मनाना मुश्किल हो गया है फिर भी डाट दबाव के साथ पंजीयन जितने लोगो का हो रहा है उसमें से आधे से कम  ही  वैक्सीनेशन करा रहे हैं । उन्होंने आगे बताया कि मेरे द्वारा 20 लोगो का पंजीयन किया गया जिसमें वैक्सीनेशन के लिए सिर्फ 7 लोग ही गये । 






जागरूकता की  टीम  बहस बाजी का हो रहे शिकार 

ग्रामीण स्तर में शासन की योजनाओं को विस्तार करने के लिए पंचायत सचिव , सरपंच  व पंचायत बॉडी के द्वारा ही विस्तार किया जाता है । इसी तरह अभी कोविड वैक्सीनेशन के लिए भी घर घर जाकर ऑफलाइन पंजीयन कर पंचायत सचिव एवं मितानिन, जनप्रतिनिधी मिलकर जागरूक कर तो रहे हैं लेकिन लोग बाग नजर अन्दाज कर रहे हैं । जब कोविड वैक्सीनेशन के जागरूक व पंजीयन  के लिए गाँव के  मितानिन  एवं सचिव जब घरों का दरवाजा खटखटाते है तो  अफवाह के डर के चलते लगभग 10 से 15 मिनट बात  दरवाजा खोल रहे हैं । दरवाजा खोलने के बाद बहस बाजी कर रहे हैं । तब जागरूक टीम के द्वारा  घण्टो बैठकर भरोसा दिलाया जाता है कि कोविड वैक्सीनेशन  सुरक्षित है तब जाकर ग्रामीण  वैक्सीनेशन के लिए पंजीयन कर रहे है । 



आगामी रोजगार के अवसर के कारण हट रहे पीछे



छुरा क्षेत्र वनांचल से घिरा हुआ क्षेत्र है । अभी कुछ दिन बाद तेंदूपत्ता तोड़ाई शुरू होने वाला है जिसके चलते ग्रामीण क्षेत्र के लोग तेंदूपत्ता तोड़ाई के बाद वैक्सीनेशन कराने की बात कह रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि वैक्सीनेशन करवाने से शरीर कमजोर हो जा रहा है बुखार आता है । जिससे कुछ काम नही कर पाते हैं वही 2 से  4 दिन बाद तेंदूपत्ता तोड़ाई शुरू हो जाएगा । यदि वैक्सीनेशन करवा लिए   तो तबियत खराब हो जाएगी । जिसके चलते हम अपने वनांचल पर आश्रित    रोजगार   से हाथ धो बैठेंगे । वर्तमान में लॉक डाउन है सब तरफ काम धंधा बन्द है घर का चूल्हा कैसे जलेगा । हम हरा सोना के लिये साल भर इंतजार करते हैं यदि इसी से हमें आमदनी नही होगी तो कहा जाएंगे ।



लोगबाग द्वारा कोविड वैक्सीनेशन से मृत्यु होना बता रहे हैं   जबकि यह बात मिथ्या एवं भ्रामक है । कोविड वैक्सीनेशन पूरी तरह से सुरक्षित है  बिना डर के कोविड वैक्सीनेशन का डोज लगवाये , साथ ही जनजागरूकता के  लिए जनप्रतिनिधी , समाजसेवी मीडियाकर्मी भी  सहयोग करे  -  डा एसपी प्रजापति बीएमओ छुरा ।