स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने की कोरोना लैब की टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने की समीक्षा

स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने की कोरोना लैब की टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने की समीक्षा

रायपुर| स्वास्थ्य मंत्री श्री टी. एस. सिंहदेव ने निवास कार्यालय में प्रदेश में कोविड-19 की जांच और इलाज की समीक्षा की। कोरोना वायरस के अधिक से अधिक संदिग्ध और संक्रमितों की जांच के लिए राजनांदगांव, बिलासपुर और अंबिकापुर में नया आर्टिफिशियल लैब में मानव संसाधन बढ़ाने के निर्देश दिए। अभी रायपुर के एम्स और भीमराव अम्बेडकर चिकित्सालय, जगदलपुर, रायगढ़ मेडिकल कॉलेज में कोरोना वायरस की आरटीसीपीआर जांच हो रही है। इसके साथ ही रायपुर के लालपुर स्थित लैब में ट्रू-नाट से सैंपल जांच की जा रही है।

प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमितों की आर्टिफिशियल लैब से टेस्टिंग क्षमता अभी 3 हजार 500 है। उसे बढ़ाकर 10 हजार करने की व्यवस्था की जा रही है। स्वास्थ्य मंत्री ने प्रदेश के तीनों मेडिकल कॉलेजों में आर्टिफेशियल लैब को शीघ्र शुरू कराने के लिए सभी आवश्यक प्रबंध करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए हैं। बैठक में अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा विभाग रेणु जी पिल्ले, स्वास्थ्य सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह, आयुक्त स्वास्थ्य सेवाएं श्री आर. प्रसन्ना, ओ.एस.डी. श्री राजेश सुकुमार टोप्पो, संचालक स्वास्थ्य सेवाएं श्री नीरज बंसोड, संचालक शिक्षा डॉ. एम.एस. आदिले, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला और नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन श्री नीलेश क्षीरसागर सहित स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।