नवीन सिंह ,एक व्यक्तित्व-संघर्ष और कड़ी मेहनत ने दिलाई नवीन सिंह को प्रदेश में पहचान

नवीन सिंह ,एक व्यक्तित्व-संघर्ष और कड़ी मेहनत ने दिलाई नवीन सिंह को प्रदेश में पहचान

नवीन सिंह ,एक व्यक्तित्व-संघर्ष और कड़ी मेहनत ने दिलाई नवीन सिंह को प्रदेश में पहचान

दीपक शर्मा/कोरबा/पाली:- श्रम कल्याण मंडल के सदस्य एवं प्रदेश कांग्रेस सचिव नवीन सिंह ठाकुर का जन्म 25 अगस्त 1974 में हुआ था और आज वे अपना 47 वाँ जन्मदिन मना रहे है,इस अवसर पर उनके पाली स्थित निवास पर सुबह से हु बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है,श्री सिंह आज सुबह अपने वरिष्ठ जनों का आशीर्वाद प्राप्त कर स्थानीय हनुमान मंदिर एवं शिवमंदिर में मत्था टेका और परिवारजनों सहित कांग्रेस परिवार ,राज्य की जनता के सुख समृद्धि खुशहाली की कामना की।

 आज अपने व्यस्त कार्यक्रम में समय निकालकर रक्तदान शिविर पहुँच कर रक्तदाताओं को जूस पिलाकर हौसला अफजाई किया।, छत्तीसगढ़ की राजनीति को बारीकियों से समझने वाले नवीन सिंह आज प्रदेश में किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं और उन्हें क्षेत्र में लोग कुशल नेतृत्वकर्ता की संज्ञा देते है,श्री सिंह सरल स्वभाव के घनी है।

      47 वर्षीय श्री सिंह ने अविभाजित मध्यप्रदेश के समय सन 1994 में सक्रिय युवा राजनीति में अपना पहला कदम रखा और फिर कभी पीछे मुड़कर नही देखा, छात्र जीवन से ही इनका झुकाव समाज सेवा की ओर रहा। यही कारण है कि उन्होंने राजनीति के माध्यम से समाज सेवा को चुना और 20 साल की उम्र में युवाओं के बीच उनकी लोकप्रियता को देखते हुए कांग्रेस संगठन ने उन्हें ब्लॉक युवा कांग्रेस पाली का अध्यक्ष नियुक्त किया, तत्पश्चात बिलासपुर जिले में उन्हें छात्र संगठन एनएसयूआई का जिला महामंत्री बनाया गया,साथ ही कौशलेंद्र राव महाविद्यालय से छात्र संगठन चुनाव लड़ कर सचिव जैसे पद को भी शुभोभित किया और छात्र हित के सर्वोपरि मानकर छात्रहित के मुद्दों पर लगातार कार्य करते रहे, महाविद्यालय सचिव नियुक्त होने पर अविभाजित मध्यप्रदेश के तत्कालीन विधि एवं विधाई मंत्री राजेंद्र प्रसाद शुक्ल ने उन्हें शपथ दिलाई और यहीं से श्री सिंह का प्रदेश की राजनीति में पदार्पण हुआ और उन्हें प्रदेश युवा कांग्रेस का प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया गया। जब राष्ट्रीय नेतृत्व ने भूपेश बघेल को कांग्रेस संगठन का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया तो श्री भूपेश बघेल ने भी नवीन सिंह के संघर्षों को याद करते हुए उन्हें अपनी टीम में प्रदेश सचिव जैसे महत्वपूर्ण दायित्व सौंपकर उनके संघर्षों का सम्मान दिया, प्रदेश की राजनीति का वह दौर था जब भुपेश बघेल जी के नेतृत्व में कांग्रेस संगठन दमदार विपक्षी की भूमिका निभा रहा था उस समय भी नवीन सिंह प्रदेश संगठन और भुपेश बघेल के साथ कंधे से कंधा मिलाकर विभिन्न सामाजिक आंदोलनों में हिस्सा लेते रहे यही वजह है प्रदेश में कांग्रेस की भुपेश सरकार बनने के बाद उन्हें श्रम कल्याण मंडल छत्तीसगढ़ शासन का सदस्य बनाकर पाली क्षेत्र को गौरवान्वित,कांग्रेस संगठन के बदलते दौर में भी उन्होंने संगठन हित में लगातार कार्य करते हुए विभिन्न क्षेत्रों में संगठन को मजबूती प्रदान की,विगत दो दशक में प्रदेश की राजनीति में कांग्रेस की गुटबाजी और उतार-चढ़ाव के दौर में भी इन्होंने अपने नेतृत्व क्षमता का परिचय देते हुए पार्टी को नहीं छोड़ा और उसी का परिणाम है कि आज श्री नवीन सिंह प्रदेश स्तर के दो महत्व पूर्ण पदों पर रहकर संगठन एवं समाज की सेवा कर रहे हैं।


*कई चुनाव में निभाई महत्वपूर्ण भूमिका*


प्रदेश कांग्रेस सचिव एवं श्रम कल्याण मंडल छत्तीसगढ़ शासन के सदस्य नवीन सिंह संगठन मे प्रदेश और स्थानीय पदाधिकारियों में बेहतर तालमेल एवं कुशल नेतृत्व क्षमता के कारण कई महत्त्वपूर्ण चुनाव में उन्हें प्रभारी एवं परीवेक्षक की जिम्मेदारी सौपी गई थी,जिसमे प्रमुख रूप से गौरेला नगरीय निकाय चुनाव हेतु परिवेक्षक, कोरबा लोक सभा चुनाव में पाली तानाखार विधानसभा का चुनाव प्रभारी उत्तरप्रदेश जिला जनपद के चुनाव में गोरखपुर परिवेक्षक आदि शामिल है,गोरखपुर चुनाव में परिवेक्षक बनाये जाना इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि गोरखपुर उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का क्षेत्र है,पाली तानाखार विधानसभा में भी गोंगपा एवं भाजपा के गढ़ को ध्वस्त करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। और उनका यह सफल राजनीतिक सफर अभी भी निर्विवाद रूप से लगातार जारी है।