हाथरस की घटना से अनु/जाति,जन जाति संयुक्त मोर्चा आक्रोश,

हाथरस की घटना से अनु/जाति,जन जाति संयुक्त मोर्चा आक्रोश,

हाथरस की घटना से अनु/जाति,जन जाति संयुक्त मोर्चा आक्रोश, 

सतनामी समाज ने की दोषियों फांसी की सजा की मांग

रिपोर्ट डुनेश्वर प्रसाद टण्डन

 *पिथौरा* -उत्तर प्रदेश के हाथरस में एक  युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म और मौत की घटना को लेकर अनु.जाति/जन जाति संयुक्त मोर्चा और सतनामी समाज विकास खण्ड पिथौरा समेत अनेक संगठनो ने आक्रोष जाहिर करते हुए दोषियों को फांसी की सजा की मांग की है। रेस्ट हाउस पिथौरा में एकत्रित होकर यूपी हाथरस के मनीषा को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए अपनी बात रखी। और एस डी एम कार्यालय पहुंच कर महामहिम राष्ट्रपति, मान,मुख्यन्यायधीश सर्वोच्च न्यायालय    

के नाम एसडीएम पिथौरा श्री राजेश गोलछा जी को ज्ञापन सौंपा। 

      ज्ञापन सौंपने वालो में *सतनामी समाज के अध्यक्ष तरुवर कोसरिया* के *नेतृत्व में व राजमहंत* *पी* *, एल,कोसरिया, के* *मार्ग दर्शन* में और ,अनु जाति जन जाति  संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष मनराखन ठाकुर,रामेश्वर सोनवानी , संरक्षक श्री रणजीत कोसरिया, आदिवासी समाज से गोलू रावल, शयामू,स्मिथ कोसरिया,जिला उपाध्यक्ष युवा  प्रकोष्ठ,  श्रीमती राजिम केतवास नीतू सिंह बांधे,उपाध्यक्ष सतनामी समाज, संजय कोसरिया,जिला प्रतिनिधि, योगेशं टंडन,अध्यक्ष युवा प्रकोष्ठ 

, राजा कोसरिया,उपाध्यक्ष युवा प्रकोष्ठ,  अभिषेक कोसरिया, छतराम अनंत,जितेन्द्र सत्यम,देवेन्द्र बघेल, जगबंधू, थानू राम,रविशंकर चतुर्वेदी,कोषाध्यक्ष,  संजय निराला,शिक्षा प्रकोष्ठ , तुलसी राम दीवान, श्रीमती कुमुद नादगरे, चंचल कुमार, आदि अनेक समाज सेवी उपस्थित थे। कार्य क्रम का आभार प्रदर्शन तरुवर कोसरिया अध्यक्षे सतनामी समाज विकास खण्ड पिथौरा ने  किया।