पाली की खुशबु को पीएससी मे मिली सफ़लता

पाली की खुशबु को पीएससी मे मिली सफ़लता

पाली की खुशबु को पीएससी मे मिली सफ़लता

 

खुशबू को मिला सहकारिता विस्तार अधिकारी का पद


 दीपक शर्मा/कोरबा-सीजीपीएससी सहित अन्य प्रशासनिक सेवाओं या शासकीय सेवाओं के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में भी युवा आगे आ रहे हैं और अपने सपनों को मूर्त रूप देने जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं। विपरीत परिस्थिति में सीजीपीएससी में पाली की कु खुशबू श्रीवास का चयन भी युवा वर्ग के लिए प्रेरणा  से कम नहीं है।


खुशबू ने पाली नगर परिवार एवं समाज का नाम रोशन किया है। नगर पंचायत पाली के अतिबल चाल( कबीर कांप्लेक्स) में पवन हेयर कटिंग सैलून के नाम से दुकान का संचालन करने वाले टावर मोहल्ला पाली निवासी संतोष श्रीवास की बड़ी बेटी कु खुशबू श्रीवास ने दूसरे प्रयास में सीजीपीएससी में सफलता अर्जित की है। इनकी सफलता, विपरीत परिस्थिति में भी संघर्ष की मिसाल है। नाना शरद श्रीवास और नानी शांति श्रीवास के साथ रतनपुर में रहकर यहां से उच्च शिक्षा प्राप्त करने के बाद अपने सपनों को साकार करने के लिए बिलासपुर में रहकर कोचिंग करते हुए सीजीपीएससी की तैयारी की और पहले ही प्रयास में मुख्य परीक्षा तक पहुंची लेकिन सफलता नहीं मिली। इससे थोड़ी निराशा हुई लेकिन हौसला नहीं छोड़ा। बल्कि कड़ी मेहनत और लगन से अपनी तैयारी जारी रखी। और आखिरकार सफलता की इबारत लिखी।हालिया घोषित सीजीपीएससी के परिणाम में इन्हें 120 वां रैंक मिला। पिछड़ा वर्ग की कु खुशबू का चयन सहकारिता विस्तार अधिकारी के पद पर हुआ है। परिवार में भाई पवन एमएससी ,एमएसडब्ल्यू की शिक्षा के बाद B.Ed की तैयारी कर रहा है और पिता के साथ काम मे भी हाथ बंटा रहा है।जबकि बहन प्रिया भी बीए अंतिम की छात्रा है। मां लता श्रीवास गृहणी है। इनका पैतृक निवास रानी बछाली है।परिवार आर्थिक रूप से संपन्न नहीं है। इसके बावजूद प्रतिभा के आगे आर्थिक पैसे की कमी सामने नहीं आई और परिवार के साथ अपना सपना साकार किया।पाली ब्लॉक से मुनगाडीह की मधुलिका डिक्सेना ने सीजीपीएससी टॉप टेन मे दसवां रैंक और बकसाही की कीर्तिका पोर्ते को सफ़लता मिली है। कु कीर्तिका को नायब तहसीलदार का पद मिला है।