पांडुका रेज में अवैध कटाई जोरो से- जिम्मेदार बेखबर

पांडुका रेज में अवैध कटाई जोरो से- जिम्मेदार बेखबर
पांडुका रेज में अवैध कटाई जोरो से- जिम्मेदार बेखबर

छुरा ग्रामीण- छुरा ब्लाक के ग्राम जरगांव पहुँच जंगलो में अवैध कटाई जोरो पर है ।  लकड़ी तस्कर लॉक डाउन का फायदा उठाकर बेधड़क डंके के चोट में दिन में ही बड़े बड़े पेड़ को काट दी रहे हैं । जिसके चलते पूरा जंगल साफ हो रहा है । जंगल में आज पड़ताल करने पर पता चला कि जरगांव के जंगलों में 10 से अधिक पेड़ो को बेधड़क काट दिया गया  है ।  जिसमे फलदार वृक्ष भी शामिल है ।


 आपको बता दे की लॉक डाउन में पुलिस वाले सड़को पर घूम घूम कर लोगो को घरों में रहने की हिदायत दे रहे हैं।  औऱ वनकर्मियों को जंगल बचाने की जिम्मेदारी है लेकिन  वन कर्मी  अपनी जिम्मेदारी कैसे निभा रहे  हैं साफ दिख रहा है । 

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि लॉक डाउन का फायदा उठाकर बड़े बड़े नमी युक्त पेड़ को बेधड़क दिन में ही काटा जा रहा है जिसके चलते वनविभाग की कार्यवाही का  ख़ौफ़ लोगो मे कितना है यह साफ नजर आ रहा है ।

वन तस्करों के द्वारा फलदार वृक्ष तेंदू महुआ कुसुम जैसे पेड़ो को काट दिया जा रहा  है । जिसके चलते फल फूल पर निर्भर रहने वाले जंगली जानवरों के लिये भूखे मरने की स्तिथि आ गई है। इन्ही सब  वन तस्करों की वजह से जंगल साफ हो रहा है जिसके चलते जंगली जानवर रहवासी इलाके में दिखाए पड़ रहे हैं ।

आज से 5 साल पुर्व छुरा ब्लाक के जंगल में घुसने से पहले लोग कतराते थे । यहां का जंगल इतना घना था कि लोगबाग को यहां के वनोपजों से अच्छी आमदनी हो जाती थीं लेकिन वनों की अवैध कटाई होने से जंगल अब सीमित क्षेत्र में सिमट कर रही गयी है  औऱ वनोपज पर निर्भर रहने वाले लोगो की आमदनी भी घटी हैं ।


पांडुका वनपरिक्षेञ अधिकारी  जयकांत सर से चर्चा करने पर उन्होंने कहा कि आपके द्वारा जानकारी मिली है । कितना पेड़ कटा है , कहा कटा है ,  कटाई स्थल का पता लगाकर आगे की कार्यवाही करता हुँ ।