प्रभारी अधिकारी के भरोसे संचालित हो रहा पाली अनुविभाग का एसडीएम तथा तहसील कार्यालय, कटघोरा एसडीएम व हरदीबाजार तहसीलदार को अतिरिक्त प्रभार

प्रभारी अधिकारी के भरोसे संचालित हो रहा पाली अनुविभाग का एसडीएम तथा तहसील कार्यालय, कटघोरा एसडीएम व हरदीबाजार तहसीलदार को अतिरिक्त प्रभार

प्रभारी अधिकारी के भरोसे संचालित हो रहा पाली अनुविभाग का एसडीएम तथा तहसील कार्यालय, कटघोरा एसडीएम व हरदीबाजार तहसीलदार को अतिरिक्त प्रभार

दीपक शर्मा/कोरबा/पाली:-15 फरवरी 2021 को आस्तित्व में आए पाली अनुविभाग का राजस्व अनुविभागीय कार्यालय को महज 03 माह ही स्थायी तौर पर अनुविभागीय अधिकारी का साथ मिला। जिसके बाद विगत साढ़े 05 माह से यह कार्यालय प्रभारी अधिकारी के भरोसे संचालित हो रहा है। वहीं स्थानीय तहसील कार्यालय का भी कामकाज बीते 03 माह से प्रभारी तहसीलदार के भरोसे चल रहा है। जहां राजस्व संबंधित दोनों विभाग में स्थायी अधिकारी नही होने से राजस्व एवं प्रशासकीय कार्यों से जुड़े मामलों पर लेट- लतीफे होने के परिणामस्वरूप आमजन एवं किसानों को चक्कर लगाने पड़ रहे है, वहीं अनेकों राजस्व मामले महीने लंबित होने के कारण लोगों की समस्याएं भी बढ़ती रही है।


ज्ञात हो कि पाली क्षेत्र में लंबे समय से सब डिविजनल मजिस्ट्रेट यानी एसडीएम कार्यालय की मांग की जा रही थी। इस मांग के मद्देनजर दो साल पहले पाली महोत्सव में पहुँचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने यहां के ग्रामीणों की समस्या तथा एसडीएम कार्यालय की आवश्यकता व मांग से अवगत कराया था। जहां मुख्यमंत्री ने एसडीएम दफ्तर स्थापना की घोषणा की थी। इस एलान के बाद जिला प्रशासन तैयारी में जुट गया था। इन्ही तैयारियों के तहत इसी साल के शुरुआत में विगत 15 फरवरी को अनुविभागीय कार्यालय का जनप्रतिनिधियों, प्रशासनिक एवं राजस्व अधिकारियों के हाथों लोकार्पण कर सुभारंभ किया गया। जहां अरुण कुमार खलखों को यहां के पहले अनुविभागीय अधिकारी के रूप में कार्य का दायित्व सौंपा गया, और तब श्री खलखों द्वारा यहां का कामकाज सम्हालने के साथ राजस्व एवं प्रशासकीय संबंधित कार्यों पर जैसे ही गति लाना शुरू किया ही था कि वैसे ही तत्कालीन कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल द्वारा 15 मई 2021 को एक आदेश के तहत एसडीएम खलखों को अपने अधीन कोरबा कार्यालय पदस्थ कर दिया गया। तथा उनके स्थान पर कटघोरा की तत्कालीन एसडीएम श्रीमती सूर्यकिरण तिवारी को पाली का अतिरिक्त प्रभार दे दिया गया। श्रीमती कौशल के जिले से स्थानांतरण पश्चात वर्तमान कलेक्टर द्वारा श्रीमती तिवारी के स्थान पर नंद कुमार पाण्डेय को वर्तमान कटघोरा एसडीएम का दायित्व सौंपा गया है, जो फिलहाल पाली के प्रभारी एसडीएम भी है। इसी प्रकार स्थानीय तहसीलदार विश्वास राव मस्के को राज्य शासन द्वारा डिप्टी कलेक्टर पद पर पदोन्नत कर और उनके स्थानांतरण पश्चात पाली तहसील कार्यालय भी लगभग तीन माह से स्थायी रूप से अधिकारी विहीन हो चला है, जहां का अतिरिक्त प्रभार हरदीबाजार के तहसीलदार श्री सलामे को सौंपा गया है। और इस प्रकार पाली का एसडीएम व तहसील कार्यालय अधिकारी विहीन होकर प्रभारी अधिकारियों के भरोसे संचालित हो रहा है। जिसके कारण क्षेत्र के आमजन एवं किसानों के इन कार्यालय से जुड़े राजस्व संबंधित प्रकरणों का समय पर निराकरण नही हो पा रहा है, और उन्हें कार्यालयों के बार- बार चक्कर लगाने पड़ रहे है। दूसरी ओर राजस्व के अनेकों मामले तहसील एवं एसडीएम कार्यालय में महीने लंबित होने से लोगों की समस्याएं भी बढ़ती जा रही है। क्षेत्रवासियों की शासन- प्रशासन से मांग है कि तहसील एवं एसडीएम कार्यालय में स्थायी अधिकारियों की पदस्थापना करें, ताकि राजस्व मामलों से जुड़े सभी कार्यों का सुचारू रूप से एवं सही समय पर निराकरण हो सके।