धमतरी जिले के 18 महिला स्वसहायता समूहों के 5.16 लाख रूपए की होगी कर्जमाफी मुख्यमंत्री ने तीज पर्व पर महिलाओं को दिया बड़ी सौगात

धमतरी जिले के 18 महिला स्वसहायता समूहों के 5.16 लाख रूपए की होगी कर्जमाफी मुख्यमंत्री ने तीज पर्व पर महिलाओं को दिया बड़ी सौगात

धमतरी जिले के 18 महिला स्वसहायता समूहों के 5.16 लाख रूपए की होगी कर्जमाफी मुख्यमंत्री ने तीज पर्व पर महिलाओं को दिया बड़ी सौगात


धनेश्वर बंटी सिन्हा/धमतरी-छत्तीसगढ़ की महिलाओं का सबसे महत्वपूर्ण पर्व हरतालिका (तीज) अब की बार कुछ खास सौगात लेकर आया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार छह सितम्बर को महिला समूहों के कालातीत हो चुके ऋण की कर्जमाफी की घोषणा की है। उनकी इस घोषणा से प्रदेश के महिला समूहों का 12 करोड़ 77 लाख रूपए की कर्जमाफी होगी। मुख्यमंत्री की इस घोषणा का लाभ जिले के 18 स्वसहायता समूहों की 195 महिलाओं को मिलेगा, जिन्होंने सात लाख 95 हजार रूपए का कर्ज लिया था और किन्हीं कारणोंवश इनकी किश्तों में अदायगी करने में असमर्थ थीं। इन समूहों की शेष भुगतान राशि 5 लाख 16 हजार 186 रूपए का कर्ज माफ हो सकेगा।

महिला एवं बाल विकास विभाग से मिली जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ़ महिला कोष योजना के तहत जिले के 18 महिला स्वसहायता समूहों ने कुल 7 लाख 95 हजार रूपए का कर्ज लिया है जिनमें से उनके द्वारा दो लाख 78 हजार 814 रूपए का भुगतान किया गया है, जबकि 5 लाख 16 हजार 186 रूपए का बकाया शेष है। योजना के तहत मिले ऋण की उक्त राशि की कर्जमाफी छत्तीसगढ़ सरकार ने कर दी है। इस संबंध में बताया गया है कि 18 स्वसहायता समूहों की महिलाओं ने ऋण पर राशि ली है, उनमें जय मां अंगारमोती महिला स्वसहायता समूह आमगांव नगरी ने 50 हजार रूपए इस योजनांतर्गत लिए थे, जिनमें से 25,893 रूपए का भुगतान शेष है। इसी तरह जय मां विंध्यवासिनी स्वसहायता समूह बांसपारा नगरी का 36,693, जय बूढ़ादेव स्वसहायता समूह सियादेही नगरी का 43,172 रूपए, जय सतनाम महिला स्वसहायता समूह आखेखुंटा कुरूद का 4,293 रूपए, चित्रोत्पला महिला स्वसहायता समूह बिरगुड़ी नगरी का 36,693 रूपए और केशरिया महिला स्वसहायता समूह 32,373 रूपए, आदिशक्ति महिला स्वसहायता समूह बरारी धमतरी का 38,853 रूपए तथा अग्रणी महिला स्वसहायता समूह का 17,253 रूपए, दुर्गा महिला स्वसहायता समूह परेवाडीह धमतरी का 8,613 रूपए, मां विंध्यवासिनी स्वयंसिद्धा महिला स्वसहायता समूह शंकरदाह धमतरी का 12,933 रूपए, आस्था महिला स्वसहायता समूह राउतमुड़ा मगरलोड का 23,733 रूपए, जय मां कर्मा महिला स्वसहायता समूह सेन्हाभाठा मगरलोड का 51,813 रूपए तथा जय मां सरस्वती महिला स्वसहायता समूह के 51,813 रूपए की कर्जमाफी होगी। इन समूहों ने 50-50 हजार रूपए का ऋण महिला कोष योजना के तहत लिया था।

इसी तरह सरस्वती महिला स्वसहायता समूह झीपाटोला नगरी की महिलाओं के द्वारा 30 हजार रूपए ऋण के तौर पर लिया गया, जिसमें से 31,088 रूपए की राशि का भुगतान किया जाना शेष है। इसके अलावा त्रिवेणी संगम महिला स्वसहायता समूह छुही, नगरी का 15,488 रूपए, जय मां वैष्णव देवी महिला स्वसहायता समूह घठुला, नगरी का 31,088 रूपए, सरस्वती महिला स्वसहायता समूह बोड़रा, नगरी का 28,488 रूपए की कर्जमाफी होगी। इन समूहों ने 30-30 हजार रूपए का लोन लिया है। इसी तरह जय मां शीतला महिला स्वसहायता समूह बांसपारा कुकरेल, नगरी द्वारा 25 हजार रूपए का ऋण लिया गया था जिनमें से 25,906 रूपए के भुगतान का बकाया शेष है।

इस प्रकार जिले के 18 स्वसहायता समूहों की 195 महिला सदस्यों का कुल पांच लाख 16 हजार 186 रूपए की कर्जमाफी छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा की गई है। ये सभी ऋण वर्ष 2014-15 से 2017-18 के मध्य छत्तीसगढ़ महिला कोष योजनांतर्गत महिला समूह द्वारा लिए गए थे, जिनमें पूरक पोषण आहार निर्माण, एमडीआर संचालन, सूअरपालन, मछलीपालन, ईंट व्यवसाय, कृषि कार्य, महुआ क्रय-विक्रय तथा आपसी लेनदेन हेतु लिए गए थे। मुख्यमंत्री श्री बघेल द्वारा की गई कर्जमाफी की घोषणा से प्रदेश सहित जिले की महिलाएं अब कर्ज के बोझ से परे उन्मुक्त वातावरण में तीज पर्व मना सकेंगी