सचिवों की माँगों को अनदेखा करना सरकार चलाने की अयोग्यता साबित होगी-ठाकुर

सचिवों की माँगों को अनदेखा करना सरकार चलाने की अयोग्यता  साबित होगी-ठाकुर

छुरा- विकास खंड छुरा के सचिव  संघ नियमितिकरण के मामलों को लेकर कलम बंध अनिश्चित कालिन बारहवे दिन से हड़ताल में है। 

  कलम बंध अनिश्चित कालिन हड़ताल के समर्थन में जनपद पंचायत छुरा के जनपद सदस्य व सर्व आदिवासी समाज के प्रदेश प्रतिनिधि नीलकंठ सिंह ठाकुर धरना  स्थल पहुच कर समर्थन  दिया। 

 उन्होने सचिव संघ को अपने उद्बोधन कहा कि त्रिस्तरीय पंचायती राज में ग्राम पंचायत के हजारों का महत्व पूर्ण भूमिका हैं। इनको नाराज करना मतलब जनता को नाराज करना है। शासन की सभी योजनाऐ पंचाक्षर द्वारा ही संचालित होती है। सचिवों के अनिश्चित कालिन हड़ताल पर रहने  पंचायत के सभी कार्य ढप हो गया है। अपने आप को संवेदनशील सरकार कहने वाली सरकार को संवेदनशीलता दिखाते हुए जायज माँगों को पूरा करना चाहिए। 

  कोरोना एक बहाना है। जिसके कारण सचिवों की माँगों को अनदेखा करना सरकार चलाने की अयोग्यता  साबित होगी। इस लिए सचिवों कोशासकीय करण करते हुऐ नियमितिकरण  करने की माँग करते हुऐ माँगों का समर्थन किया। 

 धरना स्थल पर सचिव संघ के अध्यक्ष कृषलाल सिंहा, उपाध्याय हैमन सेन, सचिव सुरेन्द साहू, मिडिया प्रभारी बोधन साह, भीषम कोयले, परमानंद, धनेश ध्रुव, झंगलू साहू, पवन सहित बडीं संख्या में सचिव संघ पदाधिकारी व सदस्य गण उपस्थित थे।