गरियाबंद पुलिस अधीक्षक जिला स्तरीय पुलिस सखी सम्मान समारोह में हुए शामिल।*

गरियाबंद पुलिस अधीक्षक जिला स्तरीय पुलिस सखी सम्मान समारोह में हुए शामिल।*



 *गरियाबंद पुलिस अधीक्षक जिला स्तरीय पुलिस सखी सम्मान समारोह में हुए शामिल।* 


*पुलिस सखी सम्मान समारोह के दौरान सैकड़ों पुलिस सखी एवं महिला कमांडो को साड़ी वितरण किया गया* 


पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर ने कहा महिलाएं किसी से कम नहीं बस जरूरत है उन्हें अपनी जिम्मेदारी को पहचानने की।* 


 *जिले के महिलाओं को अपने अधिकार के संरक्षण के लिए आगे आना होगा।* 


*SP ने कहा जिले के पुलिस सखी एवं महिला कमांडो को पुलिस की हर संभव मदद मिलेगी।* 


विवरण- मैनपुर सामुदायिक भवन में जिला स्तरीय पुलिस सखी कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमे पुरे गरियाबंद जिले के मैनपुर, देवभोग, गरियाबंद, अमलीपदर, छुरा, फिंगेश्वर, राजिम क्षेत्र से सैकडो की संख्या में महिला सखी, पुलिस कमांडो के सदस्य एवं वरिष्ठ महिला पुरूष, सरपंच, जनपद सदस्य व पंचायत प्रतिनिधि शामिल हूए, कार्यक्रम का शुभारंभ गरियाबंद जिले के पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारूल माथुर ने दीप प्रज्जवलन कर किया, इस मौके पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनंदन  राठौर, एसडीओपी पुलिस मैनपुर रूपेश कुमार डाण्डे, थाना प्रभारी मैनपुर सत्येन्द्र सिंह श्याम, महिला सखी अध्यक्ष संतोषी पटेल विशेष रूप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम में पूरे जिले भर से पहुंचे महिला पुलिस कमांडो, पुलिस सखी के महिलाओं व ग्रामीण क्षेत्रो से पहुंचे अन्य ग्रामीण महिलाओं ने पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारूल माथुर का फुल माला गुलदस्ता से स्वागत कर स्मृति चिन्ह भी भेंट किया गया।


जिला स्तरीय पुलिस सखी सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए गरियाबंद पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारूल माथुर ने कहा महिलाएं किसी से कम नही है बस जरूरत है उन्हे अपनी जिम्मेदारियों को पहचानने कि, आज की महिला देश के हर काम में कदम से कदम मिलाकर चल रही है महिलाओं को अपने अधिकार के संरक्षण के लिये आगे आनी होगी, श्रीमती माथुर ने आगे कहा कि आज से कुछ वर्ष पहले मैनपुर क्षेत्र से पांच महिलाए गरियाबंद पहुचकर पुलिस सखी के रूप मे कार्य करने की इच्छा जाहीर किए थे आज पूरे जिले के ग्राम पंचायतो में महिलाए स्वयं सामने आकर पुलिस सखी के रूप में कार्य कर रही है पुलिस सखी की महिलांए समाज में व्याप्त बुराईयो जैसे शराब, जुआ, सटटा अन्य नशा महिला अत्याचार को रोकने पुलिस के साथ मिलकर कार्य कर रही है जिसके चलते गांवो में अब इन बुराईयों से लोग दुर होने लगे है।


,पुलिस अधीक्षक गरियाबंद ने लोगो से अपील किये की शराब, जुआं, सटटा, महिला हिंसा और सामाजिक बुराईयों के खिलाफ सामने आये । पुलिस आपके साथ

पुलिस सखी की महिलाओं को यदि किसी व्यक्ति द्वारा बेवजह परेशान किया जाएगा तो उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी आज महिलाओं को अपने अधिकारों को समझने की जरूरत है। इसके लिए सबसे ज्यादा जरूरी हमेशा शिक्षा पर ध्यान देने की जरूरत है हमे अपने बच्चो को इतना ज्यादा शिक्षित बनाना होगा कि अपने अधिकारो को जाने उनके अधिकारों का कोई हनन न कर सके, महिलाओं को अपनी बातो को खुलकर और निर्भिक होकर रखना चाहिए, महिलाओं के पास असिमित अधिकार है उन अधिकारों का उपयोग कर बहुत आगे बढ सकते है महिला और पुरूष दोनों को कानून के नजर में बराबर अधिकार मिला है माता – पिता की सम्पति में बेटा और बेटी बराबर के हकदार है, आज दहेज के नाम पर महिलाओ पर जो अत्याचार हो रही है, अन्य प्रदेशो में भ्रुण हत्या जैसे मामले बढे है आज पुरे समाज को चाहिए की वे महिलाओ को बराबरी का हक दे जिस सम्मान के वे हकदार है।


जिला स्तरीय महिला सखी सम्मान समारोह में पुलिस अधीक्षक का सैकड़ो महिलाओं ने किया सम्मान

श्रीमती माथुर ने महिलाओं को प्रोत्साहित करते हूए कहा कि आज शासन द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाए चलाई जा रही है इन योजनाओं का लाभ महिलाओ को लेनी चाहिए महिला समूह में जुडकर आत्मनिर्भर बनना होगा महिला जब आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर हो जाएगी तो उन्हे किसी के सामने झुकने की आवश्यकता नही है श्रीमती माथुर ने कहा दहेज प्रथा समाज को खोखला कर रही है महिलाएं दहेज प्रताड़ना के शिकार हो रही है और हमें समाज को सुधारने से पहले अपने घर को सुधारना होगा क्योंकि हम सब परिवार मिलकर की समाज बनते है। पुलिस अधीक्षक श्रीमती माथुर ने कहा महिला सखी पुलिस कमांडो के सदस्यों के द्वारा जो भी समस्याएं यहां सामने आयी है सभी समस्याओं को गंभीरता से लिया जायेगा आप पुलिस की मदद कर रहे है गांव से अवैध शराब, जुआ सटटा, दहेज प्रताड़ना, महिला हिंसा जैसे सामाजिक बुराईयों के खिलाफ लड़ रहे है पुलिस आपको पूरी मदद करेंगी।

पुलिस सखी की महिलाओं ने एसपी को बतायी अपनी समस्या।


जिला स्तरीय कार्यक्रम के दौरान जिलेभर से पहुंचे सैकड़ो पुलिस सखी की महिलाये

इस दौरान पुलिस सखी कार्यक्रम में मैनपुर की पुलिस सखी अध्यक्ष संतोषी पटेल, गोपालपुर से लता बाई, जोबा आमदी से कमला ध्रुव, कोसमी से द्रोणा शर्मा, अंजोरा फिंगेश्वर से त्रिवेणी मिश्रा, कुलेश्वरी कुलदीप, दर्रीपारा से शबनम निशा, कोसमी से परमिला राजपूत ने कार्यक्रम में बताया महिला सखी के महिलाओं को भ्रमण करने के दौरान अनेक परेशानियों से जूझना पड़ता है खासकर जब महिला कमांडो के सदस्य किसी के घर से अवैध शराब पकड़ते है तो विवाद की स्थिति निर्मित हो जाती है तब उन्हे पुलिस बल की सहयोग की जरूरत होती है लेकिन कई बार समय पर उन्हे पुलिस बल नही मिलने से उनके उपर भी आरोप लगाया जाता है।


जिला स्तरीय कार्यक्रम के दौरान जिलेभर से पहुंचे सैकड़ो पुलिस सखी की महिलाओ को साड़ी का वितरण

जिला स्तरीय महिला सखी सम्मान समारोह में पुलिस विभाग द्वारा सैकड़ो महिलाआंे को पुलिस अधीक्षक पारूल माथुर के हाथों साड़ी वितरण किया गया और उनका उत्साह वर्धन किया गया साथ ही महिलाओं के लिये कार्यक्रम के दौरान भोजन की व्यवस्था भी की गई थी। कार्यक्रम मे प्रमुख रूप से पुलिस सखी के वरिष्ठ सदस्य पुनिया बाई यादव, कुलेश्वरी कुलदीप, संतोषी पटेल, डोमेश्वरी ध्रुव, अनुसुईया नेताम, तिजिया ठाकुर, सीता यादव, रमती ध्रुव, सकुन ध्रुव, तरूणा शर्मा, परमिला राजपूत, त्रिवेणी मिश्रा, सोनई ध्रुव, कमला बाई, कमलेश बाई, गीता, उर्वशी, भागवती देववंशी, कल्याणी, राजूबाई नेताम, लुकेश्वरी, नीता साहू, सरस्वती, उमा, गोंगाई बाई, जयश्री साहू, लता जगत, कलाबाई, मोना यादव, जमुना बाई धु्रव, जानकी नागेश, बिराजो यादव, जमुना डोंगरे, मानबाई दंेवंशी, पुस्पा बाई सोनवानी, गायत्री सोनवानी, सोनिका बाई, सविता बाई डोंगरे, कौशिल्या पदमा साहू, सुनिता निमर्लकर, मालती जगत, मैनपुर थाना से एएसआई सुरेश निषाद, हिमांचल ध्रुव, दिलीप सिन्हा, पुरूषोत्तम डाहटे सहित पुलिस के जवान भी बड़ी संख्या मे उपस्थित थे।