*जनजाति सुरक्षा मंच के सदस्य जगह-जगह आतिशबाजी कर जन सुनवाई स्थगित होने पर मना रहे जश्न, सदस्यों ने कहा अगुआ गणेश राम भगत के साथ जनजातियों के हित में जनजातीय सुरक्षा मंच की सेना हर परिस्थिति से लड़ने 24 घंटे तैयार, बड़ी उपलब्धि यह बड़ी जीत.....*

*जनजाति सुरक्षा मंच के सदस्य जगह-जगह आतिशबाजी कर जन सुनवाई स्थगित होने पर मना रहे जश्न, सदस्यों ने कहा अगुआ गणेश राम भगत के साथ जनजातियों के हित में जनजातीय सुरक्षा मंच की सेना हर परिस्थिति से लड़ने 24 घंटे तैयार, बड़ी उपलब्धि यह बड़ी जीत.....*

*जनजाति सुरक्षा मंच के सदस्य जगह-जगह आतिशबाजी कर जन सुनवाई स्थगित होने पर मना रहे जश्न, सदस्यों ने कहा अगुआ गणेश राम भगत के साथ जनजातियों के हित में जनजातीय सुरक्षा मंच की सेना हर परिस्थिति से लड़ने 24 घंटे तैयार, बड़ी उपलब्धि यह बड़ी जीत.....*


राकेश गुप्ता/जशपुर-कांसाबेल के टांगर गांव में लगने वाले तथाकथित स्टील प्लांट के लिए आयोजित जनसुनवाई स्थगित कर दी गई है। स्टील प्लांट का विरोध सबसे पहले जनजाति सुरक्षा मंच ने किया था जिसके अगुआ पूर्व मंत्री गणेश राम भगत हैं। आज कलेक्टर जसपुर के द्वारा जनसुनवाई की नियत तिथि 4 अगस्त को स्थगित कर दिया गया है। जिसके बाद जनजाति सुरक्षा मंच के कार्यकर्ता जगह जगह पर जश्न मना रहे हैं और इस कार्रवाई को जनजातीय सुरक्षा मंच की बड़ी जीत बता रहे हैं। निजी सुरक्षा मंच के उपाध्यक्ष चंद्रदेव ग्वाला ने बताया कि पूर्व अजाक मंत्री गणेश राम भगत के नेतृत्व में आंदोलन की शुरुआत की गई है और इसे अंजाम तक पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह जीत जनजातीय सुरक्षा मंच की जीत है जिसके द्वारा सबसे पहले विरोध जताया गया था। श्री ग्वाला ने यह भी कहा कि गणेश राम भगत के प्रति मंच के समर्थकों में अटूट आस्था है और वे इस लड़ाई को अंजाम तक पहुंचा कर रहेंगे और किसी भी स्थिति में स्टील प्लांट को स्थापित होने नहीं देंगे। जन सुनवाई स्थगित होने पर जिले भर के कार्यकर्ताओं ने उत्साह है और जगह-जगह आतिशबाजी कर जस्ट मनाई जा रही है। सबसे पहले बगीचा में जनजातीय सुरक्षा मंच के कार्यकर्ताओं को आतिशबाजी करते हुए देखा गया जहां कार्यकर्ताओं ने जमकर अपने नेता के जयकारे लगाए और जश्न मनाया। इस दौरान विनोद भगत, रतन शर्मा जी, विनोद उराँव जी, अनिल भगत, सुखलाल यादव, रामजतन यादव, रितिक गुप्ता, हर्ष गुप्ता, उमा शंकर ठाकुर, एल पी पाण्डे, महादेव सिंह  उपस्थित रहे।