उपचार करते करते स्वयं पॉजिटिव हुए, स्वस्थ होकर फिर उपचार में डटे

उपचार करते करते स्वयं पॉजिटिव हुए, स्वस्थ होकर फिर उपचार में डटे

उपचार करते करते स्वयं पॉजिटिव हुए, स्वस्थ होकर फिर उपचार में डटे


डेडिकेटेड कोविड अस्पताल में डॉक्टर, नर्स ने दिया सेवा का  अनुपम उदाहरण



कुलेश्वर सिन्हा/गरियाबंद-कोविड संकट के दौर में सेवाओं का अनुपम मिसाल देखने को मिल रहा है ।कई जगह व्यक्तियों द्वारा मरीजों की आर्थिक और जरूरत के अनुसार सहायता कर उनकी सेवा किया जा रहा है तो अस्पताल में में भी दिन रात डॉक्टर ,स्टाफ नर्स और अन्य सहयोगी सेवाएं दे रहे हैं ।। कई बार उनकी खुद की तबीयत बिगड़ जाती हैं ,कई बाहर वे भी असहज महसूस करते हैं लेकिन मरीजों के उपचार को  प्रथनिकता  में रखते हुए सेवाओं में किसी तरह की कमी नहीं होने दिया जा रहा है  ।जिला अंतर्गत संचालित डेडिकेटेड कोविड-19 के प्रभारी डॉक्टर जय पटेल, स्टाफ नर्स विरोनिका तथा हाउस कीपिंग स्टाफ कमलेश्वरी पिछले एक वर्ष से निरंतर अपनी सेवाएं कोविड-19  अस्पताल में मरीजों को दे रहे हैं जिससे मरीजों के बेहतर उपचार में किसी भी प्रकार की दिक्कत ना हो। वे कोविड से  संक्रमित होकर भी  सेवा का जज्बा लिए स्वस्थ होकर फिर काम मे लौट आते हैं।



डेडीकेटेड  कोविड अस्पताल के वर्तमान प्रभारी डॉक्टर नेमेंश साहू ने बताया कि डॉक्टरों ,नर्स और हाउस कीपिंग स्टाफ ने सेवा का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया है। अस्पताल से अब तक 1056 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट गए हैं ।साथ ही 9 गर्भवती महिलाओं का सुरक्षित प्रसव किया गया है।  उन्होंने बताया कि वर्तमान परिस्थिति में अत्यंत गंभीर अवस्था में  मरीज अस्पताल पहुंच रहे हैं जो 10 से 12 दिन तक वेंटिलेटर में रहने के पश्चात पूर्ण स्वस्थ होकर लौट रहे हैं। सीएमएचओ डॉ एन आर नवरत्न ने बताया कि पॉजिटिव होने के उपरांत भी चिकित्सक व स्टाफ द्वारा अस्पताल में  निरंतर तौर पर स्वास्थ्य सेवाएं दे रहे हैं । उनकी प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि स्वास्थ विभाग के स्टाफ के कार्यों के प्रति समर्पण और कर्तव्यनिष्ठा से जिले में और बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान  करते रहेंगे।