छुरा में हुये मृतक के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में मिली कामयाबी मामुलीपारा में मिला था अज्ञात मृतक का शव ,

छुरा में हुये मृतक के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में मिली कामयाबी मामुलीपारा में मिला था अज्ञात मृतक का शव ,

छुरा में हुये मृतक के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में मिली कामयाबी मामुलीपारा में मिला था अज्ञात मृतक का शव , 



पुलिस कप्तान भोजराम पटेल ने किया थाना छुरा पुलिस टीम को 5,000 रूपये से पुरूष्कृत ।






 गरियाबंद/ छुरा : - नगर पंचायत छुरा के मामूली पारा में अज्ञात व्यक्ति का शव साड़ियो एवं सीमेंट बोरियों से ढका हुआ झाड़ियों में छिपाया हुआ मिला था । सूचना पाकर मौके पर छुरा पुलिस टीम द्वारा पहुंचकर तस्दीक की गई जहां अज्ञात मृतक के शव के चेहरे को कुत्तो द्वारा नोंच कर मिल कर दिया गया था जिसकी पहचान नहीं हो पा रही थी । थाना छुरा प्रभारी द्वारा घटना की तुरंत जानकारी जिले के आला अधिकारियो को दी गई । श्रीमान् पुलिस अधीक्षक महोदय भोजराम पटेल के दिशा निर्देशन पर   छुरा थाना स्टाफ के साथ साथ जिला गरियाबंद के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनंदन राठौर तथा उपपुलिस अधीक्षक मुख्यालय टी 0 आर 0 कंवर स्पेशल टीम एवं डॉग स्क्वॉयड की टीम के साथ पहुंचे ।



 वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन एवं दिशा निर्देशन पर थाना प्रभारी संतोष भुआर्य द्वारा आस पास पतासाजी किया गया । तब मामुलीपारा निवासी भुवनेश्वर अग्रवाल द्वारा मृतक के पहने कपड़े व शारीरिक बनावट के आधार पर मृतक को अपने बड़े भाई जयप्रकाश अग्रवाल का होना शिनाख्त किया गया । मौके पर मिले साक्ष्य के आधार पर प्रथम दृष्टया हत्या की अंदेशा पर एवं मृतक के पोस्टमार्डम रिपोर्ट पर मृतक की मृत्यु गला दबाने से होना पाये जाने पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध थाना छुरा अपराध धारा 302 , 201 भादवि ० पंजीबद्ध किया गया । 




मौके पर पहुंची क्रैकर डॉग द्वारा घटना स्थल पर निरीक्षण कर घटना स्थल से सीधे मृतक जयप्रकाश अग्रवाल एवं पड़ोस के संदेही आरोपी के घर पहुंचकर अंधे कत्ल में अहम सुराग उपलब्ध कराये । 




पुलिस द्वारा संदेही देवराज उर्फ गोलु साहू को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की गई जिसके परिणाम स्वरूप यह ज्ञात हुआ कि आरोपी का मृतक की पत्नी सुमन अग्रवाल से विगत 04-05 माह से अवैध प्रेम संबंध था , 01 माह पूर्व रात्रि करीबन 08 बजे आरोपी व मृतक की पत्नी आपत्तिजनक स्थिति में थे उसी समय मृतक द्वारा इन दोनों को देख लिया और आरोपी एवं अपनी पत्नी को गाली गलौच कर मारपीट किया था तब आरोपी एवं मृतक की पत्नी द्वारा मृतक को रास्ते से हटाने का निर्णय कर चुके थे ।




 दिनांक 29.12.2020 को मृतक ने आरोपी देवराज को फोन कर अपने घर बुलाया था तब आरोपी 07.30 बजे मृतक के घर पहुंचा उस समय मृतक शराब के नशे में था और देवराज को देखकर अपनी पत्नी सुमन के सामने ही तुम मेरी पत्नी से अवैध संबंध बनाते हो कहकर में गाली गलौच एवं मारपीट करने लगा । तब आरोपी द्वारा मृतक के गमछे से मृतक के गले मे डालकर फर्श में लिटाकर गला घोंट कर हत्या कर दिया एवं सुमन अग्रवाल के साथ मिलकर रात्रि 01.30 बजे गाली गलौच एवं मारपीट करने लगा । तब आरोपी द्वारा मृतक के गमछे से मृतक के गले में डालकर जयप्रकाश के शव को छत में ले जाकर अब्दुल रज्जाक की छानी से खोलवाहरा सतनामी के खाली जगह पर गिरा दिये थे । फिर आरोपी देवराज सुमन के घर से निकलकर शव के पास जाकर सुमन द्वारा दिये नीले रंग की साड़ी और छीटदार लाल रंग की साड़ी से एवं पास में पड़े सीमेंट की बोरियों से शव को ढक कर पत्थर रखकर झाड़ियों में छिपा दिये थे ।





 वापस जयप्रकाश के घर जाकर उसके कर चाबी को राजा इलेक्ट्रीकल्स के पीछे रेत में छुपा दिया तथा हत्या में प्रयुक्त गमछा को जला दिया आरोपी द्वारा जुर्म स्वीकार किया गया । 






 मृतक के पत्नी से कड़ी पूछताछ करने पर आरोपी देवराज के साथ मिलकर घटना करना एवं अपने पति के शव को छिपाने में आरोपी देवराज की मदद करना बताई है ।




 इसके बाद पुलिस टीम द्वारा मृतक के पत्नी सुमन अग्रवाल को हिरासत में लेकर धारा 34 भादवि ० जोड़ी जाकर घटना में प्रयुक्त गमछा के जली राख एवं मृतक के मोटर सायकल आरोपी देवराज एवं सुमन अग्रवाल द्वारा अपना अपना जुर्म स्वीकार करने पर प्रकरण में बताते हुये आरोपी द्वारा अपना जुर्म स्वीकार किया गया ।।


 आरोपी देवराज की मदद करना बताई है । तथा मोबाईल को आरोपी के निशानदेही पर बरामद किया गया है । जिसके बाद दोनो आरोपियों को विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया । 




पुलिस अधीक्षक गरियाबंद भोजराम पटेल ने बताया कि पुलिस की सुझबुझ से अज्ञात मृतक के अंधे कत्ल का पर्दाफाश किया गया है । मृतक एवं आरोपी के अज्ञात होने से पुलिस के सामने चुनौती आई थी जिसे तत्परता से सुलझाया गया । उपरोक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी छुरा निरीक्षक संतोष भुआर्य . सउनि 0 श्रवण विश्वकर्मा , प्र ० आर ० हीरालाल चंद्राकर , आरक्षक हरिहर साहू , डेकेश्वर सोनी , जोहन आदित्य , दिनेश मरावी , ललित नेताम , गिरवर ठाकुर , महिला आरक्षक पार्वती ध्रुव सायबर स्पेशल टीम , डॉग स्क्वायड की सराहनीय भुमिका रही । वही छुरा थाना के टीम को 5000 रुपये से जिला पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल  द्वारा पुरष्कृत किया गया।




गिरफ्तार आरोपियान 01. देवराज उर्फ गोलू साहू पिता विशंभर साहू उम्र 19 वर्ष साकिन मामुलीपारा छुरा थाना छुरा


 02. सुमन अग्रवाल पति जयप्रकाश अग्रवाल उम्र 25 वर्ष साकिन मामुलीपारा छुरा थाना छुरा जिला गरियाबंद ( छ 0 ग 0 )