कोरोना के नए मॉडल की वजह से देश से बाहरी व्यक्तियों पर रोक लगाने से अपने ही देश के लोग बुरे फस गये- विदेश में फस गए हैं कई भारतीय

कोरोना के नए मॉडल की वजह से  देश से बाहरी व्यक्तियों पर रोक लगाने से अपने ही देश के लोग बुरे फस गये- विदेश में फस गए हैं कई भारतीय

कोरोना के नए मॉडल की वजह से  देश से बाहरी व्यक्तियों पर रोक लगाने से अपने ही देश के लोग बुरे फस गये- विदेश में फस गए हैं कई भारतीय




ब्रिटेन पर लगे ट्रैवल बैन का असर भारतीय छात्रों पर भी हुआ। ब्रिटेन में क्रिसमस की छुट्टियां शुरू हो चुकी हैं। कई भारतीय देश लौटना चाहते हैं, लेकिन भारत सरकार के अचानक ट्रैवल बैन के फैसले से यह छात्र ब्रिटेन में ही फंस गए हैं। हर साल दिसंबर में अधिकतर भारतीय छात्र देश लौटते हैं। फिलहाल, दोनों देश टूरिस्ट वीजा जारी नहीं कर रहे हैं, लेकिन, पारिवारिक कारणों से जो लोग ब्रिटेन में पहले से हैं, उनके लिए भी देश लौटना अब मुश्किल हो गया है।


ब्रिटेन में नया एकेडमिक सेशन अगले महीने शुरू होगा। लंदन में इंडियन हाई कमीशन ने सोशल मीडिया पर भारत की सिविल एविएशन मिनिस्ट्री के अपडेट्स जारी किए हैं। भारत से भी कोई फ्लाइट फिलहाल ब्रिटेन नहीं जाएगी। वंदे भारत मिशन के तहत भी ब्रिटेन से सभी फ्लाइट ऑपरेशन रोक दिए गए हैं।


कैलिफोर्निया में दिक्कत बढ़ी

अमेरिका के कैलिफोर्निया में एडमिनिस्ट्रेशन के सामने बड़ी दिक्कत खड़ी हो गई है। राज्य के दक्षिणी हिस्से में आईसीयू ही नहीं, जनरल बेड भी कम पड़ गए हैं। अब इस परेशानी को दूर करने के लिए बड़े पैमाने पर तैयारियां की जा रही हैं। प्रशासन का कहना है कि क्रिसमस बिल्कुल करीब होने से हालात और बिगड़ सकते हैं। फिलहाल, मेकशिफ्ट हॉस्पिटल पर फोकस किया जा रहा है। अमेरिका के सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्यों में से कैलिफोर्निया एक है। यहां गवर्नर गेविन न्यूसन ने कहा- हम हालात पर नजर रख रहे हैं। उम्मीद है, सब कुछ जल्द काबू कर लिया जाएगा