कोविड के चलते हमने नगर के 2 वरिष्ठ नागरिकों व सामाजिक व्यक्तियों को खो दिए-नगर में शोक का माहौल

कोविड के चलते हमने नगर के  2 वरिष्ठ नागरिकों व सामाजिक व्यक्तियों को खो दिए-नगर में शोक का माहौल

कोविड के चलते हमने नगर के  2 वरिष्ठ नागरिकों व सामाजिक व्यक्तियों को खो दिए-नगर में शोक का माहौल



कुलेश्वर सिन्हा

गरियाबंद/छुरा - नगर में   इस लॉक डाउन में जैसे जैसे कोरोना का भय खत्म हो रहा था  ठीक वैसी ही जब अपने ही इस कोरोना का शिकार हो रहे हैं तो मन मे वही कोरोना का पुराना भय आज भी याद आ जा रहा है बतादे की नगर में कोरोना का ख़ौफ़ अभी भी बरकरार है ।  कोविड वैक्सीनेशन आने  के बाद लोगो को सावधानी बरतना आज भी जरूरी है  ।  सभी चीज का जिम्मा शासन ,प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग , पुलिस विभाग, जनप्रतिनिधी व मीडिया  पर ही थोपना ठीक नही । कुछ हमारी भी जिम्मेदारी बनती है  जिसको हम निभाये । 


ज्ञात हो वर्तमान में नगर में शोक का माहौल है ।  छुरा नगर के  निवासी ब्राम्हण समाज के अध्यक्ष धर्मेंद्र दीक्षित( छुन्ना महाराज )का निधन कोविड के चलते हो गया  ।  धर्मेंद्र दीक्षित हर जरूरतमंदों के मददगार थे । नगर में उनके  साफ छवि का पिटारा हर जगह दिखता था । उनका कम बोलना औऱ हमेशा सटीक बोलना नगर में उनका ऐसी ही परिचय होता था । वे छुरा  नगरपंचायत के पार्षद मक्खु दीक्षित के अनुज व युवा कांग्रेस नेता शैलेंद्र दीक्षित के पिता जी थे । अभी कुछ ही माह पहले  धर्मेंद्र दीक्षित के पत्नी का भी निधन हो गया था जिसका गम परिवार ने ठीक से भुलाया ही नही था कि इस तरह आज खुद वरिष्ठ नागरिक  धर्मेंद्र दीक्षित अपने परिवार को अलविदा कह गए। जिससे दीक्षित परिवार समेत नगर में  दुख व्यापत है ।


वही छुरा नगर के  व्यापारी संघ के अध्यक्ष जग्गुमल सचदेव का  निधन हो गया   है । जग्गुमल सचदेव  हमेशा हसमुख मिजाज के एवं व्यापारियों के चहेते सेठजी थे । हर बखत थाने में छुरा नगर में आयोजित  शांति समिति व नगर के सामाजिक  की बैठको  में उनका यंग मेन जैसा  अंदाज में अपनी बात रखना  हर किसीको भा जाता था ।आपको बतादे की "जग्गुमल सचदेव "  शंकर सचदेव,सुनील सचदेव  के पिता जी थे । बीते 2 दिनों में दोनों नगर के चहेते  वरिष्ठ  नागरिकों के निधन से  पूरे नगर में शोक व्याप्त है ।  इस ओर नगरवासियों एवं क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों,   ने मृतात्माओ को श्रद्धांजलि अर्पित किए है।