प्रदेश में परिस्थितियां अभी स्कूलों को खोलने के अनुकूल नहीं, कोरोना का खतरा टला नहीं- शिक्षा मंत्री

प्रदेश में परिस्थितियां अभी स्कूलों को खोलने के अनुकूल नहीं, कोरोना का खतरा टला नहीं- शिक्षा मंत्री

प्रदेश में परिस्थितियां अभी स्कूलों को खोलने के अनुकूल नहीं, कोरोना का खतरा टला नहीं- शिक्षा मंत्री


रिपोर्ट-चंदन गुप्ता ब्यूरो

 सूरजपुर-छत्तीसगढ़ में स्कूल खोलने की संभावना दूर-दूर तक नहीं है। कोरबा जिले के दौरे पर आये स्कूल शिक्षा मंत्री ने दो टूक कहा है कि फिलहाल छत्तीसगढ़ में स्कूल खोलने की स्थिति नहीं है। प्रभारी मंत्री के तौर पर कोरबा पहुंचे शिक्षा मंत्री ने 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा को लेकर भी शिक्षा विभाग की स्थिति स्पष्ट की। एक सवाल के जवाब में शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि एक्सपट्र्स ने बताया है कि कोरोना यहां रिपीट हो सकता है, ऐसी स्थिति में कोई भी अभिभावक जोखिम नहीं लेगा, अपने बच्चों को स्कूलों में नहीं भेजेगा, ऐसे भी देखिये जिन जिन राज्यों में स्कूलों को खोला गया, वहीं फिर से बंद करना पड़ा, हम ऐसा क्यों करें कि स्कूल अभी खोले और फिर बंद करें

 

बोर्ड परीक्षाएं नहीं हो सकीं तो आंतरिक मुल्यांकन के आधार पर नंबर मिलेंगे…

वहीं 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा को लेकर लग रही अटकलों पर शिक्षा मंत्री डॉक्टर टेकाम ने स्पष्ट किया कि 10वीं-12वीं की परीक्षा को लेकर हमलोगों ने सिलेबस तैयार किया है, कि किस महीने में क्या पढ़ाई होगी, उसके बाद आंतरिक मूल्यांकन भी हो रहा है, ज्यादा चांस है कि 10वीं-12वीं बोर्ड की परीक्षाएं होगी, लेकिन अगर परीक्षा नहीं हो पाया तो उस परिस्थिति में आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर नंबर दिया जायेगा। आनलाइन पढ़ाई को लेकर आ रही दिक्कतों को भी डॉक्टर प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि प्रदेश में आनलाइन पढ़ाई चल रही है। जहां नेटवर्किंग की दिक्कतें हैं या वहां पढ़ई तुंहर पारा शुरू की गयी है।